पड़ोसन भाभी से बुर चटाई » Bhabhi Se Bur Chatai

पड़ोसन भाभी से बुर चटाई » Bhabhi Se Bur Chatai

हेलो दोस्तों, मेरा नाम सोनी है और मेरी उम्र 21 साल है और मैं दिल्ली से हूं। 

इस कहानी में पढ़ान है कि कैसे मैंने पड़ोसन Bhabhi Se Bur Chatai के लिए मनाया, और फिर हमने खूब लेस्बियन सेक्स के मज़े लिए।

अगर कोई दिल्ली से है, और अगर Lesbian Sex Story में रुचि हो, तो मुझे मेल ज़रूर करे। 

और पिछली कहानी पर कोई फीडबैक ही नहीं मिला है, 

तो इस कहानी पर फीडबैक जरूर देना चाहिए। ईमेल आईडी है soni4u9@gmail.com

तो चलिए देर ना करते हुए अपनी कहानी पर आते हैं। मैं एक सोसाइटी में रहती हूं. हमारी सोसायटी में सभी कच्चे घर हैं। 

हमारे पड़ोस में एक भैया है। उनका नाम अमित है और उनकी पत्नी का नाम सविता है। उनकी पत्नी की उम्र लगभग 28-30 होगी और वह बड़ी ही खूबसूरत है। 

मेरी हमेशा से ही उन पर नज़र थी। उनका फिगर भी कमाल का है और साइज़ 34-30-32 है। उनके स्तन बहुत ही मस्त लगते हैं जब वो साड़ी पहनती है। ~ Bhabhi Se Bur Chatai

बात कुछ महीनो पहले की है। मुझे कुछ काम से मम्मी ने सविता भाभी के घर भेजा था। जब घर गई तो भाभी ने मुझे अंदर बुलाया और मैंने बताया कि मम्मी ने कुछ काम से भेजा था। 

फिर बाद में वो काम ख़त्म करने के बाद मैं जाने लगी तो भाभी ने मुझे रुकने को कहा और बोली-

सविता: कहाँ जा रही हो? रुको मैं तुम्हारे लिए चाय बनाती हूँ, पी कर जाओ। फिर हम दोनो चाय पीने बैठ गई, और यहाँ-वहाँ की बातें करने लगी। 

सविता: और, आजकल तेरी लाइफ में क्या चल रहा है? 

मैं: कुछ नहीं, बस सब अच्छा ही चल रहा है। आप बताएं आपकी जिंदगी में क्या चल रहा है? 

सविता: बस सब ठीक ही चल रहा है। ये कहते ही भाभी का मुँह उतर गया। फिर मैंने उनसे पूछा कि-

मैं क्या हुआ? आपको देख कर लगता नहीं है कि सब कुछ ठीक चल रहा है। क्या बात बताई? 

सविता: तेरे भैया. 

मैं: भैया क्या? 

सविता: तेरे भैया का अफेयर है बाहर किसी के साथ। मैं उनकी ये बात सुनते ही शॉक हो गई, 

और भाभी अचानक से रोने लग गई। फिर मैं उनको शांत करने लगी और बोलने लगी- ~ Bhabhi Se Bur Chatai

मैं: भाभी मत रो आप, सब ठीक हो जाएगा।

और ये बोल कर मैंने उनको गले लगा लिया, और पीठ पर हाथ फेरने लगी। फिर मैंने एक हाथ उनकी जांघों पर रख दिया। 

मैं जैसे ही हाथ हटाई, तो भाभी ने मेरी आँखों में देखा। मैंने भी उनकी आँखों में देखा. फिर मैं एक-दम से उनके मुँह पर झपट पड़ी, और यहाँ-वहाँ पागलों की तरह किस करने लगी। 

मैं कभी गले पर, कभी कानों पर, और कभी होठों पर किस करने लगी। सविता: आह सोनी, क्या कर रही हो? ये सब गलत है, रुक जाओ। 

मैं: कुछ गलत नहीं है भाभी. मुझे करने दो. तुम मुझे बहुत हॉट लगती हो। क्या मैं तुम्हें सेक्सी नहीं लगती? 

सविता ये सुनते ही मदहोश हो गई, और मेरे बाल पकड़ कर मेरे होठों पर बहुत ज़ोर से किस किया। 

फिर उसने मेरे होंठो पर काट लिया। उसके बाद वो मुझसे बोली-

सविता: हां, तू मुझे सेक्सी नहीं हॉट रंडी लगती है और मेरी पर्सनल स्लट लगती है।

मैं: हाहाहा तुम इतनी डॉमिनेटिंग हो, पता नहीं था मुझे। और करो, हां मैं तुम्हारी रंडी हूं। और करो भाभी. कृपया रुको मत।

आप पढ़ रहे है :- Hindi X Story ~ Bhabhi Se Bur Chatai

सविता: आह आह सोनी, चूस और चूस, हाय तेरे होठों। सोनी तेरे हांथ इतने रसीले है कि क्या बताएं? 

हाँ और रुक, आज तुझे पूरा शांत कर दूँगी। तेरी बुर का सारा पानी निकाल दूँगी। रुक रंडी, मादरचोद। मेरे पति का गुस्सा आज तुझ पर निकलूंगी। 

मैं: धीरे करो प्लीज। बहुत दर्द हो रहा है. आह भाभी आह. सविता: बोल तू रंडी है ना? तू और तेरी माँ दोनो रंडियाँ है ना? मादरचोद बोल. 

मैं: हाँ मैं रंडी हूँ, आपकी रंडी, और मेरी माँ भी आपकी ही रंडी है भाभी। आह भाभी धीरे-धीरे करो प्लीज।

 सविता: आज धीरे नहीं फास्ट होगा, बहुत फास्ट होगा। आज से पहले कहीं चूड़ी हो? 

मैं: हाँ भाभी. मेरे bf से एक बार. सविता: ओह तो पहले भी मरवा चुकी हो, और नाटक कर रही हो। 

चल ले जा, आज तुझे मेरी बुर की चटाई ( Bur Ki Chatai ) करवाऊंगी रंडी कहीं की। आह ले चाट, और चाट-चाट के साफ़ कर दे अच्छे से। मुँह खोल रंडी।

मैं: क्यों भाभी? (मुझे कहानी की प्रतिक्रिया जरूर देनी चाहिए। कोई लेस्बियन लड़की है, तो मुझे जरूर बिना टेंशन के मैसेज कर सकती है)। ~ Bhabhi Se Bur Chatai

सविता: तू प्यासी है ना? तेरा गला गीला कर दू थोड़ा, और प्यास भी बुझा दू। जैसे ही मैंने मुँह खोला, भाभी ने मेरे मुँह में सुसु कर दिया। 

सविता: ओह आह्ह ले पी ले। सारा पी रंडी, एक बूंद भी नहीं गिरना चाहिए। 

मुझे स्वाद अच्छा नहीं लग रहा था, पर मजा भी आ रहा था, तो मैं पी गई। 

सविता: ले अब साफ कर मेरी बुर। ले रंडी ले. जुबान से चाट-चाट कर साफ़ कर आह।

फिर भाभी मेरे पे से हटी, और मेरे स्तनों को आज़ाद करके सहलाने लग गयी। वो मुझे किस करने लग गयी. अब मुझे भी मजा आ रहा था, 

तो मैं भी साथ देने लगी, क्योंकि भाभी पर मेरी नज़र तो पहले से ही थी। 

फिर भाभी मेरे बूब्स को पागलों की तरह चूस रही थी, और मेरे दूसरे बूब्स पर लाफ़े मार रही थी आह्ह।

मैं: आह भाभी, धीरे, मारो मत प्लीज भाभी। सविता: बहुत गोरे हैं ना तेरे बूब्स। आज मार-मार के लाल कर दूँगी इन्हें।

रंडी के स्तन कितने रसीले हैं उम्म्म्म मुआह। 

मुख्य: आहा धन्यवाद भाभी। पर आराम से करो प्लीज भाभी। फिर सविता भाभी ने मेरे निपल्स को ज़ोर से पिंच किया तो मेरी आह्ह निकल गई। ~ Bhabhi Se Bur Chatai

उसके बाद मेरे मुँह पर हाथ रख के, मेरी पैंट के अंदर हाथ डाल कर, मेरी बुर मसलने लगी। 

अब वो अपने मुँह से मेरे निप्पल चुन रही थी, तो कभी काट रही थी। क्या सीन होगा मेरे दोस्तों आह

इसके आगे की Hindi Sex Story के लिए। मुझे फीडबैक जरूर देना. अगर मुझे अच्छा रिस्पॉन्स मिला तो अगला भाग अपलोड करूंगी। 

कहानी पसंद आई हो तो इसको अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें। कहानी पढने के लिए धन्यवाद। 

अगला भाग पढ़े:- Bhabhi Se Bur Chatai-2