Gay Sex Ka Maza 4 दोस्त के संग पहला गे सेक्स का मजा

Gay Sex Ka Maza 4 दोस्त के संग पहला गे सेक्स का मजा

This entry is part in the series Pehli Gand Chudai Ka Maza

पिछला भाग पढ़े:- Gay Sex Ka Maza 3

दोस्त के संग पहला गे Gay Sex Ka Maza 4 चलिए पढ़ते है।

हेलो सब लोग, मेरा नाम रोहित है। मैं दिल्ली में रहता हूँ , अगर आपने मेरी Gay Hindi Sex Stories का पिछला भाग नहीं पढ़ा तो ज़रूर से पढ़े।

नमस्ते सभी, आगे की Gay Hindi Sex Story शुरू करते हैं। मैंने अनिल के साथ जिम ज्वाइन कर ली। शुरू के 2-3 दिन जिम करने की वजह से मेरी पूरी बॉडी पेन हो रही थी। 

मैं: अनिल मेरी पूरी बॉडी पेन कर रही है यार। मुझे नहीं लगता कि मुझे ये जिम करना पड़ेगा। 

अनिल: रोहित, शुरुआत में थोड़ा शरीर दर्द होता है। बाद में बॉडी एडजस्ट होती है। 

मैं: हा.

अनिल: रोहित, क्या हम दोनों कल शॉपिंग पर चले?

 मैं: हाँ क्यों नहीं. तुम्हें क्या शॉपिंग करनी है? 

अनिल: रोहित, मुझे नहीं। मैं तुम्हारे बारे में बात कर रहा हूँ? 

मैं: मेरे बारे में. पर मुझे तो कोई शॉपिंग नहीं करनी। 

अनिल: रोहित, लगता है तुम शायद भूल गए। 

मैं: क्या भूल गया मैं? 

अनिल: रोहित तुम भूल गए कि तुमने मुझसे क्रॉस ड्रेसिंग करने का वादा किया था। 

मैं: हा (चौंकते हुए चेहरे के साथ) पर। क्या ये करना सही होगा? मुझे तो मैं किसी भी एंगल से लड़की नहीं लगता। और ऐसे में सीधे लड़कियों के कपड़े और एक्सेसरीज की शॉपिंग करना जोखिम भरा है। 

क्या हम दोनो ऑनलाइन शॉपिंग नहीं कर सकते? वो सुरक्षित रहेगा. 

अनिल: ठीक है. हम ऑनलाइन शॉपिंग ही करते हैं। हम दोनो कॉलेज के बाद मेरे घर चले गये। मेरे घर पर कोई नहीं था. 

मेरे मम्मी-पापा हमेशा की तरह ऑफिस गए हुए थे। सच कहूँ तो मैं क्रॉस ड्रेसिंग का सोच कर थोड़ा डर गया था। पर मैंने अनिल से वादा किया था। 

मेरे घर जा कर हम दोनो फ्रेश हुए। मैं किचन में जा कर हम दोनो के लिए २ कप कॉफ़ी बनाने लगा। तभी अनिल किचन में आ गया। मैंने रसोई में आते देख कर गैस बंद कर दी। 

मैं: तुम यहां क्या कर रहे हो अनिल? मैं हम दोनो के लिए कॉफ़ी लेकर बेडरूम में आ ही रहा हूँ। अनिल मेरे पास आया. 

उसने मेरी कमर को कस कर पकड़ लिया, मुझे अपने पास खींच लिया और मेरे होठों पर किस करने लगा। हम दोनो लगभग 15 मिनट तक पूरे जोश के साथ एक-दूसरे को छूते रहे। 

फ़िर मैने टोडी को चूमो. अनिल मेरे बेडरूम में चला गया। मैं कॉफ़ी लेकर मेरे बेडरूम में गया. फिर अनिल को कॉफ़ी दी. 

मैंने अपना लैपटॉप खोला, और एक ऑनलाइन शॉपिंग साइट का पेज खोला। फिर हम दोनो लड़कियों के कपड़े और एक्सेसरीज की शॉपिंग करने लगे। 

पहले हमने एक सफ़ेद पारदर्शी शर्ट ऑर्डर की (लड़कियों वाली)। हमने एक नीली डेनिम जींस शॉर्ट्स ऑर्डर की। उसके बाद हमने एक सफ़ेद ब्रा और पैंटी और एक काली ब्रा और पैंटी का ऑर्डर दिया। 

उसके बाद काले एड़ी सैंडल. एक पेंडेंट लॉकेट, नेकलेस, और ब्रेसलेट ऑर्डर किया। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि हमने 2 धोने योग्य बाल विग ऑर्डर किए हैं। 

काले लंबे बाल विग. काले और घुंघराले लंबे बालों वाली विग। हमने मेकअप किट का ऑर्डर नहीं दिया, क्योंकि वो पहले से ही हम दोनों के घर में थी (हमारी माँ की)। 

मैं: हे भगवान. ₹5,000/- का बिल. ये बिल कौन पे करेगा? 

अनिल: रोहित तुम टेंशन मत लो। ये बिल मैं चुकाऊंगा. अनिल ने बिल भुगतान किया. वो फिर शाम 7 बजे अपने घर चला गया। लेकिन अभी भी टेंशन थी, क्योंकि क्रॉस ड्रेसिंग तो मुझे ही करनी थी ना। अगले दिन कॉलेज में-

मैं: अनिल मुझे टेंशन हो रही है। मैंने तुम्हें क्रॉस ड्रेसिंग करने का वादा किया है, मगर मैं इसके बारे में कुछ नहीं जानता। कृपया मेरी मदद करें।

अनिल: तुम यूट्यूब पर लड़कियों के मेकअप के वीडियो देखो ना। तुम्हें सब कुछ समझ आ जाएगा। 

मैं: ठीक है. मैंने घर जाकर बहुत सारी लड़कियों के मेकअप ट्यूटोरियल की वीडियो देखी। पहले तो मैंने वीट हेयर रिमूवल क्रीम से अपने शरीर के बाल शेव किये। 

वैसे तो मैं अपना चेहरा क्लीन शेव ही रखता था। उसके बाद मैंने अपनी बॉडी पर गर्ल्स बॉडी मॉइस्चराइजर लगाया। इसके कारण मुझे बहुत हल्का लगने लगा, और मेरी बॉडी स्किन बहुत सॉफ्ट हो गई। 

2 हफ्ते से जिम जाने की वजह से मेरी बॉडी थोड़ी टोन्ड हो गई और मेरे एब्स दिखने लगे। मैंने अपने आपको ड्रेसिंग टेबल के शीशे में देखा। मुझे बहुत अच्छा लगा. 

2 दिन बाद मेरे शॉपिंग का पैकेज आया। मैंने सारे कपड़े और ब्रा और पैंटी पहन कर उनकी फिटिंग चेक की। सब कुछ ठीक था. मैंने बाल विग पहन लिया. मुझे खुद पर यकीन ही नहीं हुआ। 

अनिल सही कह रहा था। मुझे भी अपने आप में एक लड़की की झलक दिख रही थी। मैंने सारे कपड़े और एक्सेसरीज पहले पैक करके मेरे सीक्रेट प्लेस पर छुपा दिए। 

एक सप्ताह हो गया. मैं रोज लड़कियाँ मेकअप की प्रैक्टिस कर रही थी। पर हम दोनो को अपनी डेट के लिए कोई दिन ही नहीं मिल रहा था। अनिल का इंतज़ार लंबा होता जा रहा था। 

एक दिन मेरे मम्मी-पापा दो दिन के लिए बिजनेस टूर पर गए थे। मैंने अनिल को कॉल करके अपने घर नाईट आउट के लिए बुलाया।

वो शाम 7 बजे मेरे घर आया। मैंने जैसा ही दरवाजा खोला, अनिल ने मुझे अपने गले से लगा लिया। मैंने उसी पोजीशन में दरवाजा बंद किया। 

मैं: अनिल छोड़ो मुझे। 

अनिल: नहीं. करीब 15 मिनट तक अनिल ने मुझे गले से लगाये रखा। मैंने हम दोनो के लिए 2 कप चाय बनाई। चाय पीने के बाद हम डिनर के लिए होटल गए। 

वहा से डिनर करके हम रात 9:30 बजे मेरे घर पहुंचे। मैंने मैं दरवाजे का ताला लगाया। 

मैं: अनिल आज रात के सरप्राइज के लिए क्यों तैयार हो ना? 

अनिल: मैं तो कभी से तैयार हूं। 

मैं: तो तुम यहां टीवी देखो, और मेरी कॉल का वेट करो। बाद में मेरे बेडरूम में आ जाना. अनिल: ठीक है प्रिय. मैं मेरे बेडरूम में चला गया. पहले मैंने वो पैकेज गुप्त स्थान से बाहर निकाला। 

फिर बाथरूम में जाकर शॉवर ले लिया। बाथरूम के शीशे में खुद को देखा और लम्बी सांस ली। मैं: चलो रोहित अब तैयार हो जाओ लड़की बनने के लिए। 

बाथरूम से निकलने के बाद मैंने अपने शरीर को दर्द से सुखाया। अपने शरीर और चेहरे पर त्वचा के लिए मॉइस्चराइजर लगाएं। फिर मैंने सफ़ेद ब्रा और पैंटी पहन ली तो मेरे शरीर में करंट दौड़ गया। 

उसके बाद मैंने नीली डेनिम जींस शॉर्ट्स पहनी, और उसके बाद लड़कियों वाली सफेद पारदर्शी शर्ट पहनी। शर्ट पारदर्शी होने के कारण मेरे एब्स भी स्पष्ट रूप से दिख रहे थे। 

शर्ट की आस्तीन मोड़कर शर्ट के ऊपर वाले 3 बटन खुले रखें जिसके कारण मेरी ब्रा और मेरा क्लीवेज एरिया साफ दिखाई दे। उसके बाद मैंने अपनी गाल पर हल्का सा मेकअप किया। 

आँखों में काजल और होठों पर गहरे लाल रंग की लिपस्टिक लगाई। अपने कानों में झुमके पहनना। पैकेज में से काले लंबे बालों की विग निकाल कर पहननी है, 

और बालों पर चमक और खुशबू के लिए लक्मे हेयर सीरम लगाना है। फिर बालों को क्लिप्स लगाकर अच्छे से सेट किया। मैंने अपने गले में पेंडेंट लॉकेट नेकलेस पहना। 

अपने हाथों में लड़कियों वाला ब्रेसलेट पहनना। अपनी बॉडी पर गर्ल्स वाला स्ट्रॉबेरी फ्लेवर परफ्यूम लगाया। पिछले दिनों मैंने अपनी ब्लैक हील सैंडल पहनी थी। मैंने आपको ड्रेसिंग टेबल के शीशे में देखा और मुस्कुराया। 

मैंने अपने मोबाइल में अपनी लड़की के रूप में एक सेल्फी ली। 2 मिनट रुक कर आपने अनिल को होश उड़ाने के लिए तैयार कर लिया। और फिर अनिल को कॉल करके अपने बेडरूम में बुलाया। 

मैं: अनिल मैं तुम्हारे सरप्राइज के साथ तैयार हूं। तुम मेरे बेडरूम में आ जाओ। 10 मिनट बाद अनिल मेरे बेडरूम में आ गया। वो मुझे देख कर शॉक ही हो गया। अनिल: रोहित तुम क्या हो? 

मैं: हा.

अनिल: मुझे तो अपनी आँखों पर विश्वास नहीं हो रहा है। तुम तो कॉलेज की सारी लड़कियों से भी बहुत खूबसूरत लग रहे हो। अनिल के मुँह से अपनी खूबसूरती की तारीफ सुनकर मैं शरमाने लगा। 

मैं: क्या तुम वहा दूर खड़े होकर ही मेरी तारीफ करोगे? मेरे पास नहीं आओगे। अनिल मेरे पास आया, और मुझे अपनी बाहों में कस कर पकड़ लिया। वो मेरे चेहरे को देखे ही जा रहा था। 

उसने बड़े प्यार से मेरे चेहरे पर से अपना हाथ फेरा। अपनी उंगलियों से मेरे बालों को मेरे कान के पीछे किया। बहुत प्यार से मेरे माथे को छुआ। मेरे गाल पर किस किया, और फिर मेरी आँखों में देखने लगा। 

मेरी सांसे तेज़ हो गयी. मैं एक लिप किस की उम्मीद कर रहा था, पर अनिल मेरी खूबसूरती में ही खो गया था। तो फिर मैंने ही अपने होंठो को अनिल के होंठो के पास ले गया। 

अब मैं अनिल की सांसे मेहसूस कर रहा था। आखिरकर मैंने ही अपने होंठो को अनिल के होंठो पर रख दिया। फिर हम 25 मिनट तक पूरे जोश के साथ एक-दूसरे को छूते रहे। 

इतने दिनों में हमारे बीच में ऐसा किस कभी नहीं हुई थी। किस करते हुए ही अनिल ने मुझे उठा लिया और बेडरूम की दीवार से लगा दिया। वो मेरे गाल बगीचे और होठों पर लगतर चूम रहा था। 

अनिल मेरे सीने को ज़ोर-ज़ोर से दबा रहा था। उसने मेरी शर्ट के सारे बटन खोल दिए। वो मेरे सीने को छू रहा था। मेरे मुँह से सिसकारियाँ निकल रही थी।

मैं: आह आह.

अनिल ने मेरी ब्रा का ऊपर वाला हुक खोल दिया, जिससे मेरी ब्रा ढीली हो गई। अब उसने मुझे अपने गोद में उठा लिया, और बिस्तर पर ज़ोर से पटक दिया। 

अब वो मेरे ऊपर आया और मेरे निप्पल ज़ोर-ज़ोर से चूसने लगा। मैं: आह आह आह मेरे निप्पल चुनो अनिल आह चुनो।

फिर अनिल मेरे पेट को छूते हुए मेरी नाभि तक आ गया। फिर उसने मेरी शॉर्ट्स का बटन खोला, और मेरी शॉर्ट्स उतार दी, और मेरी पैंटी पर से मेरे सोये हुए लंड को चूमा। 

मेरी पूरी बॉडी में पहला करंट दौड़ गया। अनिल ने फिर मेरी सफ़ेद पैंटी उतार दी और मेरे लंड को ज़ोर-ज़ोर से हिलाने लगा। मैं सातवे आसमान पर था। 

मैं: आह आह आह. अनिल ने मुझे उठा कर खड़ा किया, और वो मेरे पीछे आ कर खड़ा हो गया। उसने मेरे लम्बे बाल अपने हाथों से आगे किये। 

फिर उसने मेरी ब्रा का हुक फिर से लगा दिया, और मेरी पसीने से भीगी हुई पीठ पर किस करने लगा। वो अपने एक हाथ से मेरा लंड हिलाने लगा। 

लगभाग 20-22 मिनट बाद मैं झड़ गया, और मेरा सारा वीर्य ज़मीन पर गिर गया। अब अनिल ने अपनी शॉर्ट नीचे की। अपनी अंडरवियर में से अपना तना हुआ लंड बाहर निकला, और मेरी गांड में घुसने वाला था। 

तभी मैंने अनिल को रोक दिया। मैं: नहीं अनिल रुको, अभी नहीं। अनिल: पर क्यों? मैं: मुझे तुमसे एक वादा चाहिए। 

अनिल: कौन सा वादा? मैं: मुझसे वादा करो कि तुम कॉलेज की लड़कियों से फ्लर्टिंग करना छोड़ दोगे, और हमारे इस रिलेशनशिप को सीरियसली लोगे। 

और मुझे अपनी गर्लफ्रेंड की तरह प्रपोज करो अगले हफ्ते मेरे 20वें जन्मदिन पर। तब मैं तुम्हें ये हक दूंगा। अनिल: हाँ प्रिय. मैं कॉलेज की लड़कियों के साथ फ्लर्टिंग नहीं करूंगा। 

और अगले हफ्ते तुम्हारे 20वें जन्मदिन पर तुम्हें आधिकारिक तौर पर प्रपोज भी करूंगा। और फिर अनिल मुझसे नाराज होकर टॉयलेट के लिए जा रहा था। 

तभी मैंने अनिल को उसका हाथ पकड़कर रोक दिया और उसके होठों पर किस करने लगा। उसके बाद मैंने अनिल की टी-शर्ट उतारी, और उसके सीने पर और एब्स पर किस करने लगा। 

अनिल का लंड सलामी दे रहा था। मैं अपने घुटनों के बल पर बैठा, और अपने हाथों से उसके लंड को ज़ोर-ज़ोर से हिलाने लगा। 

अनिल: आह आह अब मत करो रोहित। इसे अपने मुँह में ले लो। मैंने अनिल की तरफ देखा. उसकी आंखें बंद थी। मैंने अपना मुँह अनिल के लंड के सामने नजदीक लाया। 

तभी अनिल ने अपना लंड मेरे मुँह में घुसा दिया और अपने हाथों से मेरे सर को आगे-पीछे करने लगा। लगतार 25 मिनट तक अनिल का लंड चूसने से मेरी सांसे तेज़ हो गयी थी। 

मेरा मुँह लाल हो गया था। फ़िर अनिल मेरे मुँह में ही झड़ गया। उसका सारा वीर्य मेरे मुँह में चेहरे पर था। अनिल ने कंधे से पकड़ कर मुझे खड़ा किया और मुझे अपने गले से लगा लिया। 

फिर अनिल मुझे बाथरूम लेकर गया और हमने एक साथ शॉवर लिया। शावर लेते हुए भी हमने जोश से किस किया। फिर हम बाथरूम से बाहर आये। 

अनिल ने अपनी छोटी सी पोशाक और सोफे पर जाकर सोने लगा। 

मैं: अनिल तुम कहाँ जा रहे हो? 

अनिल: तुम्हारे हॉल में सोफे पर सोने जा रहा हूँ। 

मैं: नहीं आज तुम मेरे साथ मेरे बिस्तर पर सोओगे (मुस्कुराते हुए)। अनिल जा कर मेरे बिस्तर पर सो गया। मैंने हेयर ड्रायर से अपने लम्बे बाल सुखाये। 

फिर एक बार अपनी ब्रा और पैंटी पहन ली और बिस्तर पर जाकर अनिल के बगल में उसकी बाहों में सो गया। 

अगली Indian Gay Sex Stories में मेरा 20वां जन्मदिन मनाया गया और अनिल ने मुझे एक नया नाम दिया।

Series Navigation<< Gay Sex Ka Maza 3 दोस्त के संग पहला गे सेक्स का मजा