वर्मा आंटी की गरमा गर्म चुदाई » Aunty Ki Garam Chut

वर्मा आंटी की गरमा गर्म चुदाई » Aunty Ki Garam Chut

दोस्तों, मेरी Aunty Ki Garam Chut की कहानी लगभग 2 साल पहले की है। मैं एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता हूँ। 

स्वागत है आपका Aunty Sex Story में।

तो, मेरा दैनिक दिनचर्या सुभे ऑफिस जाओ और शाम को  खाना खाके सो जाओ ; एकदम बोरिंग लाइफ हो गया था मेरा.

मेरे पड़ोस में एक आंटी रहती है। वो दिखने में बहुत ही हॉट है. वो वर्मा परिवार की है (दिल्ली से) और मैं साउथ इंडियन हूं।

मैंने पहले उनको उस नज़र से नहीं देखा था लेकिन एक दिन में जॉब घर से आ आया था।

तब वो बाहर माल लग रही थी। वो नीले रंग की मैक्सी पहनती थी और उनके स्तन एकदम साफ दिखाई देते थे।

जब मेरी नज़र स्तनों पर पड़ी, तो शरीर में एक करंट सा लगा और मेरा लंड तक खड़ा हो गया। मेरा लंड खड़ा हो चुका था।

वैसे मैंने उस आंटी का विवरण आपको नहीं दिया। वो एकदम गोरी आंटी माल थी और उनका शरीर 36-24-36 वाला था।

उनको देखकर लगता नहीं कि उनके बच्चे हैं और उनका नाम श्वेता है। उस दिन उनके स्तन देखकर मेरा एक कदम ही  खड़ा हो गया। » Aunty Ki Garam Chut

फिर ये सिलसिला रोज़ चलता रहा. मैं रोज़ाना इतना ही समय बाहर पोछा लगाता था। मैं रोज उनको कल्पना करके हस्तमैथुन करता था।

फिर एक दिन उन्होंने मुझे बुलाया और मैं चला गया। उनका बिस्तर के किनारे हटाना था और उनका पति घर पर नहीं था।

मैं गया और बिस्तर हटने लगा। मेरे अकेले से हुआ नहीं तब उन्होंने एक हाथ लगाया। फिर जब वह झुके तो उनका क्लीवेज पूरा क्लियर था और मेरे सामने थे।

तभी मेरा लैंड पूरा टाइट हो गया। फिर दोनो मिलके बिस्तर हटाय। फिर उनकी नज़र मेरे लंड पर पड़ी जो पूरी तरह से ताना हुआ था,

और तब मैंने शॉर्ट्स पहनना हुआ था तो पूरा साफ़ दिखरा था लेकिन उन्हें कुछ नहीं बोला। थोड़े दिन ऐसे ही चलता रहा।

कुछ काम से मुझे बुलाती हूँ और मैं उनके घर जाता हूँ। जब भी जाता तब तब उनकी गांड और बूब्स देखकर मेरा लंड खड़ा होता है,

और हर वक्त वो नोटिस करती है लेकिन कुछ बोलती नहीं।

एक दिन मेरे मॉम डैड गाँव चले गए। मेरे ऑफिस की वजह से मुझे अकेले मुंबई में रुकना पड़ा।

उस दिन मेरे ऑफिस में बहुत व्यस्त दिन था और मुझे घर पर ही खाना बनाना था। मैं घर आ रहा था.

मुझे वो आंटी सीढ़ियों पर मिली। उन्होंने पूछा, “अभी आ रहे हो घर?” » Aunty Ki Garam Chut

मैंने बोला, “हाँ, अभी आ रहा हूँ। बहुत थका हूँ; बहुत व्यस्त दिन था. मुझे घर जाकर खाना बनाना है।”

तब उन्होंने कहा, “क्या आप इतना मेहनत कर रहे हो?” मैंने खाना बनाया है 4 लोगों का और मेरे पति कुछ काम से बाहर चले गए हैं।

वो सुबे आने वाले है. अभी आया उनका फोन आया।” मैंने कहा, “क्यू आप तकलीफ लेरे हो। मैं जाके ऑर्डर कर लूंगा कुछ।

” तभी उन्होंने ज़िद पकड़ लिया कि, “नहीं, आप आज मेरे घर खाओगे।” मैंने मना किया फिर उन्होंने मेरी माँ को कॉल लगाया और बोला था।

मैंने हाँ बोल दिया खाने के लिए। मैं अपने घर गया. फ्रेश होकर एक शॉर्ट्स और टीशर्ट पहनना और उनके घर गया खाना खाने।

तब उनके दोनो बच्चे सो गये थे। हम दोनो साथ में खाना खाने बैठे और वो सब साफ सफाई में लग गई। उनका गांड मेरे चेहरे की तरफ था.

मैंने उनका गांड देखते ही मेरा लंड पूरा तन गया था और वो मैक्सी पहनी थी। उसने पूरा उनका अंडरवियर लाइन में दिख रहा था।

मैं अपने लंड को सहलाने लगा। उनको देख कर तेज़ सहलाने लगा। फिर द्यण बस उनके गांड पर था। » Aunty Ki Garam Chut

अचानक वो मुड़ गई और मैंने उनको देखा नहीं। बस अधिक ध्यान उनकी गांड पर था. फिर उन्होंने आवाज़ दी,

“योगेश योगेश, क्या हुआ?” क्या कर रहे हो?” अचानक मुझे झटका लगा और बोला, “बोलो आंटी।

” तब उन्होंने बोला, “क्या कर रहे हो?” मैंने कुछ नहीं बोला. मेरी नज़र नीचे करके बैठा था। फिर मैंने ऊपर देखा तब उनके चेहरे पर एक शैतानी मुस्कान थी।

तब मुझे लगा कि उनको बुरा नहीं लगा मेरे हरकतों से; मैं थोड़ा आराम से हूँ. फिर उनका सब काम हो गया

और मैंने बोला, “आंटी, चलो मैं चलता हूँ।” फिर उन्होंने कहा, “अरे, रुको। कहां जा रहे हो?” अगला दिन शनिवार था।

उनको पता था मेरा ऑफिस वीकेंड में छुट्टी रहता है। उन्होंने कहा, “क्या करना है घर जाके।

” कल तो ऑफ है तुम्हारा. रुको थोड़ी देर मेरे साथ; बैठो, बातें करते हैं।” 

मेरी माँ में लालच चल रहा था। उनको देखकर मेरा मन नहीं भरा था। घर जाने का फिर में भी रुक गया।

बातें करते-करते उन्हें बताया उनका पति बस काम में ही रहती है। सुबह शाम और रात में थक कर आते है;

खाके सो जाते है। यह बात सुनकर मैं समझ गया था कि वह असंतुष्ट थी।

उनके पति से बहुत दिनों तक सेक्स नहीं किया होगा वो।

तब में थोड़ी फ्लर्टी में बात शुरू की। मैं – आप तो इतनी हॉट दिखती हो। » Aunty Ki Garam Chut

कैसा आपके पति कुछ नहीं कर पाते? वो थोड़ी दुखी थी और उसने मुझसे कहा:

आंटी – क्या करूँ? क्या खूबसूरती का कोई प्यार करने वाला ही नहीं है। मैं थोड़ा और फ्रैंक होने लगा और उनसे पूछा:

मैं – एक बात पूछी आंटी… आप बुरा तो नहीं मानोगे?

उन्होंने बोला, “अरे, बिलकुल नहीं।” पूछो जो पूछा ना है।” मेरी फटी रहती फिर भी मैंने हिम्मत किया और उनसे पूछा:

मैं – आपको अपनी पत्नी खुशी नहीं देते हैं क्या?

वो थोड़ी देर तक शॉक थी और सोचने लगी, “इसने क्या पूछ लिया।” लेकिन थोड़ी देर बाद:

आंटी – मतलब, कहना क्या चाहते हो?

फिर मैने हिम्मत जुटाई और बोला:

मैं – आपको अपने पति से बिस्तर पर खुशी नहीं मिलती क्या? (अप्रत्यक्ष रूप से सेक्स के बारे में पूछा)

फिर उनका चेहरा पूरा उदास हो गया था। तब मैं समाज गया कि वो असंतुष्ट थी। फिर उनसे बोला:

आंटी – नहीं मिलती जितना मैं चाटी हूँ। हमसे 10% ही होता है हमारे बीच। मैं और खुलकर बात करने लगा। » Aunty Ki Garam Chut

हमारे बीच बहुत नजदीकियां होने लगीं। उन्होंने सब कुछ अपने बारे में बताया। उनका पति रात बस 10-15 मिनट करके सो जाता है,

और वो रात भर नहीं सो पाती क्योंकी वो संतुष्ट नहीं होती।

मैं उनके बातों से समझ गया था कि उनको भूख लगी है खुजली मिटाने की।

फिर तभी मैंने थोड़ी पहल की। उनके पास जेकर बैठ गया और बातें करने लगा।

बातों बातों में वो थोड़ी इमोशनल हो गई और मेरे कंधे पर सर रख कर रोने लगी।

तभी मैंने थोड़ा हिम्मत बढ़ाई और उनके चेहरे और सिर पर हाथ लगाया।

जैसे ही हाथ लगाया, तब मेरे पुरे बदन में एक करंट सा दौड़ा।

रंडी चोदने के लिए यहाँ से बुलाये » Aunty Ki Garam Chut

Click Here For Booking » Escort Services in Paschim Vihar

मैंने उनको शांत कराया और वो मेरे खंडे से सिर नहीं उठा रही। तबी मेने उनके चेहरे पर हाथ रखा और उठाया।

हम दोनो की आँखें एक दूसरे में मिले और एक दूसरे को देखते रहे। कभी 10 मिनट तक ऐसे ही देख रहे थे।

आंटी ने मेरे चेहरे के पास अपने होठों के कबीर लाए और मुझे कुछ समझ नहीं आया।

मुझे कुछ समझ में आया तब तक हम एक दूसरे को किस करने लगे।

उन्होंने. मुझे अपने मुँह से ऐसा लगा कि कहीं सालों से वो भूखी है। मैंने अपनी नजर उन पे बहुत दिनों से थी,

इसलिए मैंने आपको रोक नहीं पाया। फिर मैंने भी उनको अपने होठों से उनके होठों को पूरी तरह से मुँह में ले कर किस करने ने लगा।

थोड़ी देर बाद मैंने उनको रोका। मैंने बोला, “आंटी, ये गलत तो नहीं?” फिर उनका जवाब आया:

आंटी – प्लीज, कुछ गलत नहीं है। मैं तुम्हें बहुत दिनों से देख रही हूँ। जब तुम हमारे घर आए थे बिस्तर ठीक करने, » Aunty Ki Garam Chut

तब मैंने तुम्हारा ताना हुआ लोडा देखा, तब से मेरा मन बस तुम्हें चहा है और आज मोका मिला है कि मैं तुम्हारे सेक्स साथ करूँ।

मैं – आंटी, मैं भी आपके साथ करने का बहुत दिनों से सोच रहा हूँ पर कोई मौका नहीं मिला।

आंटी – आज तो मौका भी और दस्तूर भी। करो जो करना है. मैं आज पूरी रात तुम्हारी हूँ। फिर मैंने उनको किस करना वापस स्टार्ट किया और मेरे हाथ में उनके बूब्स पर थे।

मैं उनको मसल रहा था; वो और गरम होगा. फिर धीरे से मैंने मैक्सी ऊपर की डायरेक्ट पैंटी में हाथ डाल दिया।

वो नीचे से पूरी गिली हो चुकी थी। वो मेरे लंड को मसल रही थी; उससे मैं और जोश में आ रहा था।

मैंने पहले दो उंगली उसकी चूत में डाली। बड़े आराम से अंदर गए और वो, “आआह…ओह्ह…हम्म…और करो प्लीज” करके बोलने लगी

मैंने अभी तीन उँगलियों को अंदर डाला। वो दर्द से चिल्लाने लगी क्योंकि वो बहुत महीनो से सेक्स नहीं करी थी।

उनकी चूत बहुत टाइट हो गई थी। उसने मेरी टीशर्ट उतारी और मेरे प्यारे लंड पर किस करने लगी।

फिर उसने मेरे शॉर्ट्स निकाले. मेरा लंड पूरा तना हुआ था. मेरा अंडरवियर निकल गया, मेरा लंड दूसरी तरफ चला गया, उसके मुंह पर आ गया।

वो मेरे लंडको हाथो से सलाम करने लगी. मेरे लंड को चूमने लगी। फिर मैंने उनको बिस्तर पर धक्का मारा और ६९ पोजीशन में आ गया।

(जिनको ६९ पोजीशन नहीं पता, मेरा मुँह उनकी चूत में और उसका मुँह मेरे लंड के पास) जैसे ही मैंने अपनी जीभ उसकी चूत पर टच की,

तब वो झटके से उछल पड़ी और वो मेरा लंड ऐसे चूसती रही कि कोई चॉकलेट हो। » Aunty Ki Garam Chut

मैंने उंगली उसकी चूत में डाला और जीभ से चाटने लगा। वो चिल्लारी थी, हल्की आवाज़ में,

“आआह… ओह्ह… श्शश… प्लीज़ और ज़ोर से करो, योगेश। मैं चाहती हूं कि तुम मुझे तब तक चोदो जब तक मैं मर न जाऊं।

कृपया और जोर से करीये। आज रात मैं पूरी तरह से तुम्हारी हूँ। कृपया अपनी उंगलियों से मुझे जोर से चोदो।

” वो मेरे मुँह में ही जड़ गई। मैं पूरा पानी पी गया और मैं भी झड़ने वाला था। मैंने अपने पैरों से उसका सर ब्लॉक किया,

और उसके गालों तक मेरा लंड डाल के जड़ गया। वो मेरा पूरा पानी पी गई। थोड़ी देर ऐसे ही लेते रहे। फिर वो बाथरूम ताजा हो गया.

मैं तो वैसे ही लेता रहा हूं। उसको नंगी चलती देखके मेरा लंड वापस हरकत करने लगा।

वो वापस आकर अपना नंगा बैंड मेरे बैंड से चिपक कर मेरे ऊपर लेट गई।

मेरा लंड तना हुआ था. उसकी चूत पूरी गिली हो चुकी थी। उसने मेरे कान में कहा, “अभी और नहीं रुका जरा है। चोदो मुझे।

” मैं ये सुनता ही हूं और जोश में आ गया। वो मेरे ऊपर थी. उसने मेरा लंड पकड़ा और उसकी चूत में डालने लगी।

उसकी चूत थोड़ी टाइट थी। तो पहली बाद में अंदर नहीं गया। फिर उसने जैसे ही अंदर डालने की कोशिश की, मैंने ज़ोर से धक्का दिया।

तब अंदर गया. वो चिल्ला उठी, “ऊऊ…माँ…मरगै में।” तो फिर मुझे धीरे-धीरे अंदर बाहर करने लगा। थोड़ी देर बाद, उसका दर्द भी मज़े तक पहुंच गया था।

वो अब उछल उछल के अंदर बाहर कर रही थी। मैं उसके स्तन चूस रहा था। उसने बोला, “पूरा रस मेरे बूब्स खा जा आज।

” पूरा में आज तेरी ही हूँ। जितना चोदना है, छोड़ो मुझे।” उसने कहा, “मैंने आज तक ऐसा मज़ा लाइफ में कभी नहीं लिया। » Aunty Ki Garam Chut

चोदो और ज़ोर से योगेश. मुझे तुमसे प्यार है। आह्ह…ओह्ह मुझे चोदो! चोदो ज़ोर से और।” ज़ोर से मैं झड़ने वाला था।

मैंने पूछा उसको, “कहाँ निकालू मेरा पानी?” उसने बोला, “मेरे मुँह में।” मेने पूरा पानी उसके मुँह में जड़ गया और वही ले गया।

उसने मेरे लंड को चुमता हुए कहा, “धन्यवाद, योगेश।

मैं सालों से ये सुख पाने के लिए मार रही थी। तुमने मेरा सपना आज पूरा कर दिया। आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।”

“लव यू” बोलके हम नहाएँगे और नहाते रहेंगे और एक बार सेक्स के लिए। ऐसे ही कहीं महीनों तक चलता रहा,

और आज भी कभी उनके पति बाहर होते हैं; तब वो मुझे मैसेज करती है और मैं चला जाता हूं। धन्यवाद दोस्तों मेरी कहानी लिखने के लिए।

मैंने पहली बार Aunty Sex Story Hindi लिखा है। मेरे जीवन में बहुत बार सेक्स हुआ है। आपको अच्छा लगा तो प्लीज आप मुझे मेल करिए।

मैं और भी मजेदार किस्से आपस में शेयर करूंगा जो कि मेरी जिंदगी में हुए हैं। मुंबई में कोई महिला/लड़कियां जिससे मुझसे मिलना » Aunty Ki Garam Chut

और सेक्स चैट करना है, तो कृपया मुझे मेल करें और गोपनीयता की चिंता न करें। बस अपने बीच ही रहेंगी बेटन।

One thought on “वर्मा आंटी की गरमा गर्म चुदाई » Aunty Ki Garam Chut

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *