Badi Gand Wali Aunty Ki Chudai – बड़ी गांड वाली आंटी की चुदाई

Badi Gand Wali Aunty Ki Chudai – बड़ी गांड वाली आंटी की चुदाई

नमस्ते दोस्तों, मेरा नाम अमन है. ये Hindi X Stories बिलकुल असली है इस कहानी में आपको पता चलेगा कैसे मैंने Badi Gand Wali Aunty Ki Chudai की

मेरी उम्र 19 साल है और लंबाई 5 फीट 7 इंच है।

मेरा रंग सांवला है और मैं एक बिल्कुल ताजा और मासूम लड़का हूं जिसका लिंग सामान्य से अधिक लंबा और 2.5 इंच मोटा है।

मेरी मकान मालकिन का नाम नीलम है. उसके तीन बच्चे हैं लेकिन वह खुद को सामने से नहीं देख पाता। उनका फिगर कमाल का 34-32-36 है जिसे देखकर किसी का भी लंड खड़ा हो जाए.

ये Free Sex Kahani मौसी और मेरे बारे में है. मैं और मेरा परिवार दूसरी मंजिल पर रहते हैं और हमारी मकान मालकिन भूतल पर रहती हैं। जब भी मैं नीचे जाता हूं तो इसकी सुंदरता देखता हूं।

एक बार मैं नहाने के बाद जैसे ही अंडरवियर में बाहर आया तो वो मुझे सामने सिर्फ अंडरवियर में खड़ा देख कर चौंक गयी. उसकी नजरें मेरी छाती पर टिकी थीं.

जैसे ही उसे होश आया तो उसकी नज़र मेरे अंडरवियर पर गयी और मेरे लिंग का उभार देख कर वो मुस्कुरा कर गिर पड़ी. एक बार, जब मैं काम से निकल रहा था,

तो वह दरवाजे पर खड़ी थी और उसका ब्लाउज उसके कंधे से उतर गया था, इसलिए उसकी काली ब्रा साफ़ दिख रही थी। जैसे ही मैंने उसे देखा तो देखता ही रह गया क्योंकि वो बहुत सेक्सी लग रही थी।

वह जानती थी कि मैं उसे देख रहा हूँ, लेकिन वह अपने कपड़े ठीक नहीं कर रही थी, वह मुझसे नज़रें मिला रही थी, मुझे अपनी ब्रा ठीक करने देने का नाटक कर रही थी।

फिर मैं वहां से चला गया क्योंकि मुझे बाहर काम था. इसी तरह एक दिन मैं छत पर पतंग उड़ा रहा था और अंधेरा होने वाला था. मैं भी नीचे जाने वाला था, तभी नीलू छत पर आई और अपने कपड़े उतारने लगी.

Badi Gand Wali Aunty Ki Chudai

कपड़ों में से एक को एक निश्चित ऊंचाई पर रखा गया था ताकि उसका हाथ उस तक न पहुंच सके। फिर नीलम बोली: अमन, प्लीज़ मेरी मदद करो!

मैं: मैं अभी आपकी मदद करूंगा. और मैं तुरंत उसकी मदद के लिए चला गया. मैं उसके पीछे गया और उसके कपड़े उतारने की कोशिश करने लगा. मेरा लोहे जैसा लंड उसकी गांड को छू रहा था.

बड़ी गांड वाली आंटी को चुदाई 5

बड़ी गांड वाली आंटी को चोदने के लिए इस वेबसाइट से बुक करे चीप रेट पर South Ex Escorts

और मैंने देखा कि उसने मेरी हरकत का कोई विरोध नहीं किया बल्कि अपनी गांड को मेरे लिंग पर रगड़ने लगी. मुझे भी मजा आने लगा.

इसी बीच कुछ ऐसा हुआ कि जब नीलम ने अपनी गांड को जोर से मसलने के लिए पीछे धकेला तो मैं लड़खड़ा कर गिर गया और उसे पकड़ने की कोशिश में मैंने उसे भी खींच लिया. अब वो मेरे ऊपर लेटी हुई थी.

मैंने धीरे से उसके होंठों को अपने होंठों से छू लिया. लेकिन अब मैंने डरना बंद कर दिया कि कहीं वह मुझ पर चिल्लाने न लगे.

लेकिन अगले ही पल उसने मेरे होंठों को अपने होंठों से जोड़ लिया और चूसने लगी. मैं भी उसका साथ देने लगी. मैंने पहली बार किसी को चूमा। मेरी ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहा.

अब जब वो मुझे चूम रही थी तो मैं उसके ब्लाउज के ऊपर से उसके मम्मे दबाने लगा। मेरे ऐसा करने पर वो होश में आ गयी और उसने मुझे चूमना बंद कर दिया।

तो मैंने उससे पूछा: तुम रुक क्यों गए? फिर उसने कहा: कोई आ जायेगा. मैं- नीलम चाची, आप मुझे बहुत अच्छी लगती हो … बहुत अच्छी.

नीलम- तुम मुझे भी बहुत पसंद हो और तुम्हारा शरीर भी मुझे बहुत पसंद है मैं- मैं तुम्हारे साथ सेक्स करना चाहता हूं. नीलम- मुझे भी अपनी प्यास बुझानी है. लेकिन हम सब घर पर हैं, यह कैसे करें? इसी समय किसी की आवाज आयी और वह उठकर चली गयी।

Badi Gand Wali Aunty Ki Chudai

फिर हम दोनों कुछ दिनों तक ऐसे ही मजे करने लगे. कभी छत पर तो कभी सीढ़ियों पर! लेकिन हम इससे खुश नहीं थे. एक दिन जब घर पर कोई नहीं था तो मैं उसके कमरे में चला गया। जैसे ही मैं कमरे में दाखिल हुआ नीलम खुश हो गई और उसने मुझे अपनी बांहों में ले लिया.

मैंने भी अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिए और उसे जोर-जोर से चूमने लगा। बीच-बीच में वो अपने होंठ भी काट रहा था.

अब मैं उसके ब्लाउज के ऊपर से ही उसके मम्मे दबाने लगा. उसके निपल्स इतने सख्त हो गये थे कि उन्हें उसके ब्लाउज के अन्दर से भी महसूस किया जा सकता था.

अब नीलम भी मेरे लंड को मेरी पैंट के ऊपर से पकड़ कर मसलने लगी. तो मैंने भी उसके फुटबॉल जैसे नितम्बों को जोर-जोर से दबाना शुरू कर दिया।

बड़ी गांड वाली आंटी को चुदाई 4

इससे वह कराहने लगी. मैंने पूछा: रिश्तेदार कहां गए? नीलम- सब लोग शादी में गये हैं. मैं: कब आ रहे हो?

नीलम- कल मिलते हैं. ये सुनते ही मुझे ऐसा लगा जैसे मेरी ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहा. नीलम- आज रात मैं पूरी तरह से तुम्हारी हूँ।

मैंने नीलम का ब्लाउज खोला और उसके बड़े बड़े मम्मे बाहर आ गये। मैं जानवरों की तरह उन पर टूट पड़ा. नीलम- आराम से अमन… हमारे पास पूरी रात है।

मैं: आपके स्तन इतने सेक्सी हैं कि मैं खुद पर काबू नहीं रख पा रहा हूँ! फिर मैंने उसके निपल्स को काटना शुरू कर दिया. इतने में नीलम मेरे लंड को पैंट के ऊपर से दबाने लगी.

आंटी ने मेरी शर्ट उतार दी और मेरी गर्दन पर चूमने लगीं और बातें करने लगीं. इससे मेरा उत्साह और भी बढ़ गया. अब मैंने नीलम चाची का पेटीकोट खोल दिया.

अब उसके पास सिर्फ पैंटी बची थी, जिसमें वो बहुत कामुक लग रही थी. अब नीलम ने मुझे बिस्तर के किनारे पर बैठा दिया और मेरी गोद में बैठ कर मुझे चूमने लगी।

उसने मेरी जीभ अपने मुँह में ले ली और चूसने लगी. पहले तो मुझे यह अजीब लगा, लेकिन फिर मुझे इसमें मजा आने लगा। उसे चूमते हुए मैं उसके स्तनों और गांड से खेलता रहा।

बीच-बीच में मैंने उसकी गांड पर एक-दो तमाचे भी जड़ दिये. इससे उसकी कामुकता बढ़ेगी और वह अधिक उत्तेजित होगी।

Badi Gand Wali Aunty Ki Chudai

अब नीलम चाची उसकी गोद से उतर कर घुटनों के बल बैठ गईं और मेरी पैंट के ऊपर से मेरे लिंग को चूम लिया। फिर उसने मेरी पैंट खोली और मेरा अंडरवियर नीचे खींच दिया.

अंडरवियर नीचे सरकते ही मेरा लंड उछल कर बाहर आ गया. नीलम- आह… मैं पहली बार किसी का इतना बड़ा लंड देख रही हूँ. मैंने कभी सोचा भी नहीं था कि कोई इतना बड़ा और मोटा भी हो सकता है.

मैं- क्या आपका मतलब पहली बार है? अंकल का कितना बड़ा है? नीलम- अरे मैं क्या कहूँ.. उनके पास तो इसका आधा भी नहीं है। और हम ज्यादा देर तक ऐसा नहीं कर पाते, थोड़ी देर के लिए खेलते-खेलते अटक जाते हैं।

मैं: अगर चाची और मैं भी जल्द ही मर जाएं तो? नीलम- मुझे पता है तुम जल्दी नहीं करोगे. आपका लिंग मजबूत लगता है.

अब नीलम मेरे लंड को चूमने लगी. मानो यही मेरी ख़ुशी की एकमात्र जगह थी। फिर उसने लिंग की ऊपरी त्वचा को पीछे खींचना शुरू कर दिया.

मुझे थोड़ा दर्द होने लगा, मेरे चेहरे के भाव बदलने लगे. चाची ने खींच कर सारी चमड़ी हटा दी और लिंग का टोपा मुँह में डाल लिया.

पहले तो मुझे थोड़ा दर्द महसूस हुआ लेकिन जल्द ही राहत मिल गई। वो मेरे लिंग को और गहराई तक लेकर चूसने लगी. मैं उसके बाल पकड़ रहा था क्योंकि वह बीच में आ रहा था।

फिर मैंने उसका सर पकड़ कर दबाया और मेरा लंड उसके गले तक पहुंच गया. नीलम- अमन ऐसा मत करो. मैं ठीक हूँ।

बड़ी गांड वाली आंटी को चुदाई 2

लेकिन शरारत से मैंने उसे फिर से दबा दिया. इस बार वो कुछ नहीं बोली और मजे से चूसने लगी. वो इतनी जोर से चूस रही थी कि मैं 10 मिनट में ही उसके मुँह में झड़ गया।

आंटी ने फिर से मेरे लिंग को अपने स्तनों के बीच दबाया और चूसने लगीं। यह अविश्वसनीय रूप से मज़ेदार था।

Badi Gand Wali Aunty Ki Chudai

2 मिनट में ही मेरा लंड पूरा तन गया. फिर मैंने नीलम को लेटने को कहा. नीलम लेट गई और अपनी टाँगें ऊपर उठा लीं।

मैं उनकी टांगों के बीच बैठ कर अपना लंड आंटी की चूत पर रगड़ने लगा. नीलम- अभी बजाओ. मैं- ठीक है आंटी! नीलम- नहीं चाची, अब मैं आपकी नीलू हूँ… नीलू बोलती है! मैं ठीक हूँ!

मैंने अपना लंड उसकी चूत में डाला लेकिन वो फिसल गया. तो मैंने दोबारा धक्का दिया लेकिन फिर भी अंदर नहीं गया.

मेरा पहला अनुभव होने के कारण और उसकी चूत टाइट होने के कारण मैं अपना लिंग अन्दर नहीं डाल सका। नीलू ये देख कर मुस्कुरा रही थी. नीलू- कभी पहली बार किया है या नहीं?

मैं- नहीं, ये मेरा पहली बार है. नीलू- वाह… मेरे पास तो एकदम ताज़ा माल है. मैं: आपने पहले भी ऐसा किया है. तो तुम्हारी चूत इतनी टाइट क्यों है?

नीलू- तुम्हारे चाचा ने 1 महीने से कुछ नहीं किया. और वैसे भी उनका तो बहुत छोटा है और तुम्हारा तो बहुत बड़ा है. इसीलिए अंदर जाने में बहुत दिक्कतें हो रही हैं.

अब नीलू ने मेरा लंड अपनी चूत के छेद पर रखा और मुझे झटका देने को कहा. मैंने उसे एक जोरदार झटका दे मारा. मेरी टोपी अंदर फंस गयी. नीलू के मुँह से चीख निकल गयी.

मैं- क्या हुआ? नीलू- कुछ नहीं, ऐसे ही करते रहो! मैंने एक और ज़ोर का झटका मारा और मेरा आधा लिंग अन्दर चला गया। फिर मैंने अपना लिंग बाहर निकाला और फिर एक जोरदार झटका मारा।

Badi Gand Wali Aunty Ki Chudai

मेरा पूरा लंड आंटी की चूत के अंदर चला गया था. नीलू चिल्लाई, उसने अपने पैर मेरी कमर के चारों ओर लपेट दिए और मुझे अपने ऊपर खींच लिया।

मैं उसे दस मिनट तक ऐसे ही झटके मारते हुए चोदने लगा और वो भी अपनी गांड उठा-उठा कर मेरा साथ दे रही थी। इस दौरान उसे दो बार ऑर्गेज्म हुआ था।

बड़ी गांड वाली आंटी को चुदाई 3

मुझे थकता हुआ देख कर नीलू बोली- अमन, अब मुझे ऊपर जाने दो। मैं नीचे आया और नीलू मेरा लंड अपनी चूत में डाल कर उठ बैठी और जोर-जोर से उछल-उछल कर मुझे चोदने लगी।

इस पोजीशन में उसके स्तन मेरी आंखों के सामने उछलते हुए बहुत अच्छे लग रहे थे. मैंने उन्हें मुँह में डाल लिया और चूसने लगा.

20 मिनट की चुदाई के बाद मेरा वीर्य निकलने वाला था. मैंने कहा: यार नीलू, मैं झड़ने वाला हूँ, कहाँ निकालूँ? नीलू- अपना सामान मेरे सामने छोड़ दो!

फिर नीलू नीचे आई और मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी और जैसे ही मेरा निकलने वाला था, उसने सारा वीर्य अपने चेहरे पर ले लिया.

Badi Gand Wali Aunty Ki Chudai

फिर थोड़ी देर आराम करने के बाद नीलू फिर से मेरे लंड को छेड़ने लगी. लंड खड़ा हो गया. फिर मैंने नीलू को डॉगी स्टाइल में होने को कहा. वह घुटनों के बल बैठ गयी.

एक ही झटके में लंड नीलू की चूत में घुसेड़ दिया गया. इस बार मेरा लंड और गहराई तक जा रहा था.

अब मैंने नीलू को उसके बालों से पकड़ा और घोड़ी बनाकर उसकी सवारी करने लगा।

मैं नीलू को जोर जोर से चोदने लगा. नीलू चिल्ला रही थी- अमन, जोर से… जोर से… आह आह आह… आह… अमन, ऐसे ही अंदर तक करो! वो नीलू की गांड पर थप्पड़ मार रहा था.

इससे हम दोनों और भी उत्साहित हो गये. 30 मिनट तक डॉगी स्टाइल में चोदने के बाद मेरा वीर्य निकलने वाला था. इस बार मैंने अपने आप को नीलू की चूत में ही छोड़ दिया और उसके ऊपर निढाल होकर गिर गया।

इतनी देर में नीलू तीन बार स्खलित हो चुकी थी। उसके ऊपर गिरकर उसे चूम रहा था और काट रहा था. मेरा लंड अभी भी नीलू की चूत के अंदर ही था.

आप पढ़ रहे थे Antarvasna Hindi और ऐसी कहानी पढ़ने के लिए हमारी वेबसाइट देख सकते है धन्यवाद।