इंग्लिश टीचर से जबरदस्त गांड फाड़ चुदाई – Gay Sex Stories Hindi

इंग्लिश टीचर से जबरदस्त गांड फाड़ चुदाई – Gay Sex Stories Hindi

 हेलो दोस्तों, मैं करण फिर से एक नई कहानी लेकर आ गया हूं। ये कहानी है अनुज की, जो अपने इंग्लिश टीचर से Jabardast Gand Faad Chudai करवाता है। 

अब वो कैसे करवाता है, चलिए सुने ये है कहानी अनुज की ही ज़ुबानी। तो चलिए शुरू करते हैं Hindi Gay Sex Story। 

मैं अनुज, उमर 19 साल, अभी मैं ग्रेजुएशन के प्रथम वर्ष में हूँ। वैसे तो मैं लड़का हूँ लेकिन दिखने में एक कमसिन लड़की जैसा हूँ। 

इसलिए मेरे से हर किसी को प्यार होता है। लेकिन मैं जिसको दिल करता है उसको ही मेरे पास रखता हूँ। मैं अपनी चूत जैसी गांड का सील तुड़वा चुका हूं। 

तो इसलिए हर कोई मेरी गांड मारने की उम्मीद करता है। वैसे ये Gay Sex Stories Hindi है कुछ महीने पहले की। 

उस वक्त हमारे कॉलेज में एक नये अंग्रेजी शिक्षक को शामिल किया गया। दरअसल पुराने टीचर का थोड़ा एक्सीडेंट हुआ था, 

तो वो छुट्टी पर थे, और तुम जॉइन कर लिए। वो दिखने में एक मॉडल की तरह दिख रहे थे। पहली दफ़ा में ही उनको देख कर मेरी गांड में खुजली होने लगी। 

अंग्रेजी सर का नाम था शरीफ अहमद। तो शरीफ सर जब क्लास कर रहे थे, तब मैंने देखा कि उनकी पैंट में उनके लंड का उभार था। 

मुझे समझ आ गया कि सर अंडरवियर नहीं पहनने थे। जब क्लास खत्म हुई तो मैं उनके पास जाकर बोला-

मैं: सर आपने अंडरवियर नहीं पहना है?

सर बिल्कुल चकमा गए, और मुझे बदमाश बोल के चले गए। हाय मैंने तो यह लिया है कि अब सर के साथ में ऐसे ही फ्लर्ट करूंगा। 

ऐसे ही कुछ दिन गये. उस दिन मैंने अपना होमवर्क नहीं किया था। सर: अनुज, तुमने होमवर्क क्यों नहीं किया? मैं: सॉरी सर, मैं भूल गया। 

सर: तुम मुझे क्लास के बाद अकेले में मिलो। मैं थोड़ा डर गया था। लेकिन फिर भी मैं क्लास ख़त्म होने के बाद उनके कमरे में गया। फिर जब वो मुझे देखे, तब वो बोले-

सर: तुम इंग्लिश में अच्छे नहीं हो, और अगर होमवर्क भी नहीं करोगे, तो तुम एग्जाम में पास कैसे होगे?

मैं: आपके ऊपर से ध्यान नहीं हटता है सर। 

सर: फ़िज़ूल की बातें करो, मगर पढ़ाई में ध्यान मत डालना। कल तुम्हारे माता-पिता को लेकर आना, उनसे बात करनी है। 

मैं: सर पैरेंट्स से क्या बात करनी है, आप मुझे एक्स्ट्रा क्लास दीजिए मैं अच्छे से पढ़ाऊंगा। 

सर : अच्छी बात है। लेकिन तुम्हारे माता-पिता क्या राजी होंगे? 

मैं: हाँ सर, वो भी बोल रहे थे। 

सर: ठीक है, तो तुम मेरे घर आ जाना शाम को क्लास के लिए। 

उसके बाद मैं घर चला आया, और खुश हो गया कि सर के साथ अकेले समय बिताने का मौका मिलेगा। 

फिर मैं तैयार होकर सर के घर गया तो देखा कि उनके घर में कोई नहीं था। सर एक तौलिया पहन के दरवाजा खोले। मैं तो बस उन्हें देखता ही रह गया। 

अब मैं पढाई करके बैठ गया सोफे पर, और सर एक शॉर्ट्स पहन के आ गए। उनका लंड बिल्कुल मस्त दिख रहा था. 

मेरी पढ़ाई पर ध्यान ही नहीं था। अब थोड़ी देर बाद सर चले गए नाश्ता लाने, और मैं बस उनके ही ख्याल में था।

 सर को पता चल गया कि मैं उनपे ही नज़र लगाए हुए था।

अब अगली शाम को जब आया तो मैं उनके लिए चाय बनाने के लिए किचन में गया। 

सर भी मेरे पीछे आ गए और मुझे लड़की की तरह दिख रहा हूँ बोले। मैं शर्मा गया. फिर जब मैं चाय पी रहा था, 

तो मेरी ड्रेस पर चाय गिर गई। मैंने उसी वक्त अपनी शर्ट निकाल दी। 

जबरदस्त गांड फाड़ चुदाईDelhi Escort Services

मेरे निप्पल देख कर सर का लंड खड़ा हो गया और सर तुरन्त ही बाथरूम चले गए। 

मुझे पता चल गया कि सिर मुंह मार गए थे। मैं अगले दिन कॉलेज में सर को बोला कि-

मैं: सर मेरे घर वाले एक हफ़्ते के लिए गाँव गए हैं। तो क्या मैं आपके साथ आपके घर रुक सकता हूँ? 

और मेरा एग्जाम भी है, तो आपकी मदद ज़्यादा मिलेगी। 

सर: हां ज़रूर, मुझे ख़ुशी होगी। अब मैं सर के साथ मेरे घर आया कपडे लेने। जब हम सर के घर जा रहे थे तो मैंने आइसक्रीम खानी चाही। 

इसलिए हमने आइसक्रीम खाई। मैं आइसक्रीम को बिलकुल लंड जैसा चूम रहा था, 

तो सर ये देख कर गरम होने लगे थे। जब हम घर आये तो सर बोले-

सर: अनुज तुम तो आइसक्रीम बढ़िया चूस रहे थे।

मैं: मुझे और भी एक चीज़ आती है सर चूसनी। 

सर: क्या? मैं: आप आंखें बंद करो, मैं दिखता हूं। फिर मैंने सर की आंखें बंद करके ही नीचे झुक गया, 

और उनकी पैंट निकाल कर करीब 8 इंच लंबा लंड चूसने लगा। सर ये देख कर बहुत खुश हो गए, और उनका लंड चुसवाने लगे। 

करीब 20 मिनट चूसने के बाद उनकी क्रीम मैं पी गया। जब रात को हम सोने आए, तो सर बिल्कुल नंगे ही बिस्तर पर लेटे, 

क्योंकि उनको नंगे सोने की ही आदत थी। मेरी तो गांड में खुजली होने लगी। मैं: सर, अगर कुछ और करना चाहें तो मैं कर सकता हूँ। 

सर: करूंगा, लेकिन परीक्षा ख़त्म होने के बाद। फिर वो मेरी गांड को छूने ही अपना लंड हिलाने लगे, और मुंह मारने लगे। 

अब मैं भी परीक्षा में ध्यान देने लगा हूं, और सभी पेपर अच्छे से दिए हैं। फिर परीक्षा ख़तम होने की रात को सर बोले-

सर: अनुज बहुत दिनों से रुका हूँ। आज तुम्हारे साथ असली वाला मजा करूंगा। 

मैं: मैं भी तो इंतज़ार में हूँ सर, दीजिये ना असली मज़ा।

फिर हम दोनो एक दूसरे को किस करने लगे। वो मेरे होठों को पूरा काट रहे थे। फिर वो मुझे नंगा करके बिस्तर पर फेंक दिए,

 और खुद नंगा हो गए। मुझे थोड़ा डर लग रहा था, लेकिन बहुत उत्साह भी था। वो अब मेरे ऊपर चढ़ के, अपना लंड मेरे मुँह में डाल के चोदने लगे। 

मैं भी मज़े से छूट गया। फिर उन्होंने मेरी गांड को अपनी जीभ से चाट कर मुझे पूरा गरम कर दिया। 

अब जब मैंने अपना होल बड़ा किया तो सर समझ गए कि मैं तैयार था। 

फिर सर अपना 8 इंच लम्बा लंड मेरी गांड में एक बार में घुसा दिया। मुझे थोड़ा दर्द हुआ, लेकिन मुझे ख़ुशी बहुत थी। तो मैंने सर को बोला-

मैं: सर, मैं आपसे प्यार करता हूँ।

सर: मैं भी तुमसे प्यार करता हूँ अनुज जान। मैं: आज मेरी फाड़ दीजिए सर। 

अब सर अपनी रफ़्तार बढ़ाने लगे, और मुझे अलग-अलग पोजीशन में चोदने लगे। मैं भी बहुत आनंद लेता रहा.

 करीब ४० मिनट की चुदाई के बाद वो मेरी गांड में झड़ गए। लेकिन उनका वही खड़ा था। मैं समझ गया कि वो दवाई खाए थे, 

तो मैंने भी उनको दूसरे राउंड का बोला, और सर फिर से चालू हो गए। उस रात हमने 4 बार चुदाई की, और सुबह तो मेरी गांड का भोंसड़ा हुआ पड़ा था। 

मैं सुबह बिस्तर में ही पड़ा रहा। फिर शाम को मुझे अच्छा लगा। ऐसे ही हमारा चलता रहा 2 दिन, और उसके बाद मैं अपने घर आ गया। 

मगर अब हमारी ऐसी ही Gay Chudai करीब 6 महीने तक चलती रही। फिर सर का ट्रांसफर हो गया और पुराना टीचर आ गया। 

तो दोस्तो कैसी लगी अनुज और उसकी इंग्लिश टीचर की जबरदस्त गांड फाड़ चुदाई? अपनी टिप्पणी  soni4u9@gmail.com पर भेजें, धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *