Actress Sneha Sex Stories 6 » Actress Sex Stories

Actress Sneha Sex Stories 6 » Actress Sex Stories

This entry is part in the series Sneha Actress Sex

अगर अपने भी तक ये Sneha Actress Sex की दिलचस्प कहानी के पिछले भाग नहीं पढ़ा तो कृपया पहले आप वो पढ़े।

अब आगे Actress Sneha Sex Stories 6 की कहानी…

मैं बिस्तर पर लेटी रहती हूँ तभी करण सर कार पार्क करके ऊपर आते हैं। और मुझसे बोलते हैं स्नेहा तैयारी करो चलने की 10:25 की फ्लाइट है, 

हम लोग की और समय सुबह 6 बजे बजने वाले हैं। 

अंतरराष्ट्रीय उड़ान तो कम से कम 4 घंटे पहले हवाई अड्डे जाना ही होगा। एयरपोर्ट जाने में भी कुछ टाइम लगेगा।

आम जल्दी करो, जल्दी करो!

मैं – सर मैं इस हालात में क्या तैयार हूँ बस कपड़े पहन लेती हूँ और क्या..?

करण सर – हाँ जो भी करना है जल्दी करो।

मैं – सर मेरा सूटकेस आपको ही पैक करना होगा।

करण सर – ठीक है, ठीक है।

करण सर पहले अपना सूटकेस जल्दी से पैक करते हैं और फिर जल्दी से तैयार हो जाते हैं।

मैं करण सर से बोली सर आप मेरा सूटकेस लेकर इधर आ जाओ उसमें से जो ज्यादा आरामदायक कपड़े होंगे वो मैं पहन लूंगी।

करण सर ऐसा ही करते हैं।

फिर मुझे कुछ भी समझ में नहीं आया कि क्या पहनू जो सहज हो।

करण सर ने कहा स्नेहा तुम जींस तो पहन नहीं सकती हो। तो सिर्फ एक ही ऑप्शन बचता है वन पीस ड्रेस या फिर स्कर्ट टॉप पहन लो। » Actress Sneha Sex Stories 6

मैं बोली हूं सर, लेकिन वन पीस ड्रेस बहुत टाइट फिटिंग होगी जो कि इस सिचुएशन में पहनना ठीक नहीं है। तो मैं ऐसा करती हूं कि स्कर्ट और टॉप ही पहनती हूं।

करण सर भी सहमत हो जाते हैं और मैं भी।

मैं पहले का पहनना हुआ ऊपर का कपड़ा निकालने लगती हूँ। फिर मैंने करण सर को सहारा देने के लिए बोलती हूं ताकि मैं स्कर्ट को डाल सकूँ।

तभी करण सर बोलते हैं और स्नेहा तुम तो पैंटी पर ही पहन रही हो। 

स्कर्ट याद है तुम्हें कुछ डॉक्टर ने क्या कहा था कि एक क्रीम लिख रहा हूँ उनको 3 बार लगाना है 

और मालिश भी करना है। तो फिर ये सब कैसे पाओगे और वॉशरूम जाना हुआ तो कैसे जा पाओगी?

मैं – लेकिन सर इतने छोटे से स्कर्ट को बिना पैंटी के कैसे पहन लूं वो भी इंटरनेशनल ट्रैवलिंग में।

 मेरी तो दुर्दशा ख़राब हो जायेगी अगर मैंने ऐसा किया तो।

करण सर – सोच स्नेहा वॉशरूम और क्रीम लगाने वाली बात वो ज्यादा जरूरी है तुम्हे ठीक होने के लिए। 

और वैसे भी तुम्हारी सीट तो ग्रुप के ही किसी आदमी के पास रहेगा फिर तुमको क्या दिक्कत है।

 थोड़े दिमाग को कंट्रोल में रखना होगा और क्या बिना पैंटी के ही पहन लो।

यहां पर तो मैं पैंटी पहनती हूं और खोल देती हूं लेकिन फ्लाइट 

और एयरपोर्ट पर जब जरूरत होगी तो खुद से खोलो और पहन पाओगी बोलो उस कंडीशन में अभी तुम।

मैं – नहीं सर आपने उस कंडीशन में छोड़ा ही कहा मुझे।

करण सर शर्मिंदा हो जाते हैं और सॉरी आई एम रियली सॉरी बोलने लगते हैं।

मैं कुछ रिप्लाई नहीं देती हूँ और फिर बोलती हूँ ठीक है पैंटी उतारने में मेरी मदद कीजिए। करण सर करने लगते हैं।

अभी भी चूत में सूजन थी और दर्द बढ़ रहा था। पैंटी उतर गई और अब मैं स्कर्ट डालने लगी। 

वह स्कर्ट बहुत ही छोटी सा था, सिर्फ मेरी चूत और चूत को ढके हुए थे। वो भी तब तक ही जब तक की मैं झुकती नहीं हूं। 

अगर मैं थोरा सा भी झूली तो फिर मेरी चूत और गांड लेके दर्शन सब को हो जाते।

मैं ऊपर से एक अच्छा सा टॉप डाल लेती हूँ और थोड़ा वॉशरूम में जाकर जल्दी से फ्रेश हो जाती हूँ और बिल्कुल तैयार हो जाती हूँ। » Actress Sneha Sex Stories 6

और मेरा और करण सर का सूटकेस भी पैक हो चुका था। अब बस निकलना था यहां से।

जैसा कि मैंने सोचा था कि मैं बिना पैंटी के एक छोटा सा स्कर्ट (मैरून रंग का) पहन लेती हूं। 

मज़बूरी में करती भी तो क्या करती और ऊपर से एक टॉप (क्रीम कलर का) पहनी हुई ब्रा के ऊपर मैं एकदम हॉटनेस की हद लग रही थी। 

मानो किसी हॉट ऐड का शूट के लिए इस टाइप की ड्रेस पहनना हो और रियल्टी कुछ और थी। 

मैंने यात्रा के लिए ऐसा सपना देखा था, वो भी इस प्रकार की मजबूरी हो जाने पर।

राजेश सर – वाओ स्नेहा क्या लग रही हो क्या खूबसूरती है तुम्हारे यार तुम तो आग का गोला हो गोला। 

देखना आज एयरपोर्ट पर कितने पागल हो जाएंगे और थोड़ा तुम झुक गई, तब तो बात ही कुछ और हो जाएगी।

मैं सर मैंने सौख से ऐसा सपना नहीं पहना है मजबूरी थी मेरी काम से कम आप तो समझो इस बात को। 

आप ही तो हो इस मजबूरी के जद। और रही बात झुकने की तो मैं अपने मन को बिलकुल संगत रूप से रखूंगी।

करण सर – वो सब छोड़ो अब चला जाए ना..

मैं – सर एक बार निकालने से पहले कॉल करके पूछ लीजिए, मेरा पासपोर्ट और वीजा हो गया या नहीं।

करण सर – हां ठीक कह रही हूं पूछता हूं।

मैं- सर आप सीधी बात करो ना सर से।

करण सर – ठीक है उनसे करता हूं।

मैं – सर, सर कितने लोग और कौन जा रहे हैं ये भी पूछ लीजिएगा। » Actress Sneha Sex Stories 6

करण सर – ठीक है.

फिर करण सर कॉल लगाते हैं पाटिल सर को-

करण सर – सुप्रभात सर।

जे जे पाटिल सर – गुड मॉर्निंग करण बोलो?

करण सर – सर वो हमलोग रेडी हो चुके हैं बस निकालने ही वाले हैं।

लेकिन आपने पूछा था कि स्नेहा का पासपोर्ट और वीजा क्या हुआ?

जे जे पाटिल सर – क्या तुम उसकी टेंशन क्यों लेते हो पाटिल जो चाहेगा वो ना हो ऐसा कैसे कभी हो सकता है क्या? 

वो मेरा एक कलिग है पासपोर्ट डिपार्टमेंट में मैंने उसको बोल दिया था कॉल करके के पासपोर्ट और वीजा कब आ गया है सब तैयार है

करण सर – धन्यवाद सर, तो हम लोग निकलते हैं सर एयरपोर्ट के लिए।

पाटिल सर – हां निकलो और हम लोग भी बस निकलने वाले हैं।

उस लड़की को जरा बुलाओ।

करण सर – ज़रूर सर बस एक मिनट।

करण सर मुझे कॉल दे देते हैं। मैं चौंक गई क्या बोलूंगी मैं फिर भी कॉल ले लेती हूं।

मैं – बहुत सुप्रभात सर।

पाटिल सर – गुड मॉर्निंग गुड मॉर्निंग स्नेहा कैसी हो?

मैं – बस आप सब की दुआ ठीक हूँ सर।

पाटिल सर – किसी चीज़ की कोई दिक्कत नहीं है ना अगर होगा तो मुझे बताना।

मैं – नहीं, नहीं सर कोई प्रॉब्लम नहीं है आपने मुझे सेलेक्ट किया, 

आपने साथ काम करने का मौका दिया। इसके लिए आपका बहुत बहुत आभार.

पाटिल सर – वो जाने पर मुझे किसी भी तरह की कोई समस्या नहीं होनी चाहिए। 

मैं हर चीज बर्दाश्त कर सकता हूं लेकिन समस्या इसका ध्यान रखना नहीं है।

मैं – ज़रूर सर 100%.

अच्छा करण को फ़ोन करो. » Actress Sneha Sex Stories 6

मैं तुम्हें फोन करता हूँ.

करण तुम अभी स्नेहा को 50 हजार रुपये दे दो हाथ में रखने के लिए।

करण सर- ठीक है सर.

पाटिल सर – ठीक है बाय एयरपोर्ट पर मिलते हैं।

करण सर – सर, सर, वो स्नेहा ये जाना चाह रही थी कि हम लोग कितने लोग जा रहे हैं दुबई में?

पाटिल सर – अभी तो फिलहाल हम 6 लोग जा रहे हैं। बाकी सब लोग टेक्नीशियन और ग्रुप के लोग 1 सप्ताह बाद लोकेशन फाइनल होने पर आएंगे।

करण सर – ठीक है सर बाय।

पाटिल सर कॉल कट कर देते हैं।

कॉल स्पीकर पर था मैने सारी बाते सुन ली.

करण सर अनादर जाते हैं और लॉकर खोलकर उसमें से 50 हजार रुपये मुझे दे देते हैं। 

और बोलते हैं ये लो स्नेहा पाटिल साहब का ऑर्डर है। ये तुम्हारा पॉकेट मनी सर के तरफ से गिफ्ट छोटा सा।

मैं खुश हो जाती हूँ क्योंकि 50k मेरे लिए बहुत पैसे थे। वो भी पॉकेट मनी के तौर पर तो बहुत ही ज्यादा। मैं अपने हाथ पर्स में रख लेती हूँ पैसे।

अब करण सर कॉल करते हैं, उबर की टैक्सी मंगवाते हैं और फिर कुछ देर में हम दोनों एयरपोर्ट की तरफ से निकल जाते हैं।

तभी अचानक से मुझे एक केमिस्ट की दुकान खुली दिखाई दी। मैं टैक्सी को रोकने को बोलती हूँ तभी करण

 सर बोलते हैं कि क्या हुआ स्नेहा यहाँ क्यों रुक रही हो?

मैं उनको याद दिलाती हूं कि सर आप भूल गए केमिस्ट से दवाइयां लेनी थी। 

@₹5K-15K/ Call Girls Delhi » Actress Sneha Sex Stories 6

तब सर को याद आया और वो दुकान पर चले गए और फिर लोग वहां से निकल गए।

कुछ देर बाद हमलोग एयरपोर्ट पहुंच जाते हैं और मैं टैक्सी से उतरती हूं संभाल के। 

क्योंकि मैंने पैंटी नहीं पहनी थी। थोड़ी भी गलती हो जाती है तो गड़बड़ हो जाती है।

मैं किसी तरह टैक्सी से नीचे उतरी हाथ से ढकेल हुई आगे की तरफ शर्म की बात है तो मुझमें अब बचा नहीं था। 

लेकिन फिर भी अब सबके सामने इतने छोटे से कपड़े में हल्की-हल्की शर्म आ रही थी मुझे।

हम लोग साइड में हुए और तब तक अपनी बीएमडब्ल्यू कार से पाटिल साहब आये 

और उनके साथ 4 और लोग भी थे। कौन कौन थे वो मैं आगे बताऊंगी।

सर को हम लोगों ने वेलकम किया और सर मुझे इस टाइप के ड्रेस में देख कर बहुत खुश हो गए,

 उनका चेहरा ये बात बता रहा था। फिर सर ने मुझे गले लगाया बिल्कुल जोर से उन्हें अपनी और खींचा फिर बाकी 3नो ने भी ऐसा ही किया।

उन सबकी नज़र मेरे ड्रेस पर ही थी। » Actress Sneha Sex Stories 6

फिर पाटिल सर ने मुझे मेरा पासपोर्ट, वीजा और टिकट दे दिया और फिर हम लोगों ने एयरपोर्ट के अंदर प्रवेश किया।

मेरे प्राइवेट पार्ट में अभी भी तेज दर्द था जिसे मैं चलने में कह रही थी। और मैं उचित ढंग से धंग से नहीं चल पा रही थी। 

एक्सेलेटर पर भी सही ढंग से एडजस्ट नहीं हो पा रहा था। लेकिन क्या करती अब तो किसी भी तरह का सफर करना ही था।

अब आगे चेकइन काउंटर पर क्या होता है और इमिग्रेशन में मेरी जांच होती है, 

और किस तरह फ्लाइट के आने तक मैं अपनी नंगी चूत को छुपाने की कोशिश करती हूं। अगले Hindi Sex Stories भाग में जाने.

Series Navigation<< Actress Sneha Sex Stories 5 » Actress Sex StoriesActress Sneha Sex Stories 7 » Actress Sex Stories >>