नौकरानी की चूत और गांड का मजा – Naukrani ki Chut ki Chudai

नौकरानी की चूत और गांड का मजा – Naukrani ki Chut ki Chudai

नमस्ते दोस्तों तो कैसे हो आप लोग आशा करते है आप लोग अचे होंगे और हमारी Hindi x Story का मजा ले रहे होंगे।

आज मैं आप को Free Hindi Sex kahani सुनाने जा रहा हु। कैसे Naukrani ki Chut ki Chudai की। ये कहानी सुनकर आप का भी लंड खड़ा हो जाएगा क्योकि मेरी मामी है ही बड़ी सेक्सी-

तो मैंने सोचा क्यों न अपनी काम वाली पर किस्मत आजमाऊं। तो मैंने उसे पटने के बारे में सोचने लगा। वो दिखने में ठीक थी।

और उसका फिगर थोड़ा भरा हुआ था। उसका साइज 38-40-42 था. तो मैंने उसे ऑब्जर्व करना शुरू किऔर तो कब आती है, किन-किन कामों में।

तो मैंने अपनी योजना को आगे बढ़ाने का सोचा। और उससे धीरे-धीरे बात करना शुरू की। और वो जब भी पोछा और झाड़ू लगाती थी।

उसके स्तनों को देखना और ये बात उसे भी पता लग गई थी। मैं उसे देखता हूं. धीरे-धीरे हमारी बात चित बड़ गई।

और फिर मैंने अपनी योजना का अगला हिस्सा शुरू किऔर। वो रोज मेरे कमरे में जादू और पोछा लगाने आती थी। और फिर मैं चुपके से सोने की एक्टिंग करते हुए उसके स्तन देखता था।

तो मैंने रात को अपने पूरे कपड़े उतार दिए और फिर नंगा ही एक चादर ओढ़ लिऔर। वो सुबहा जादू पोछा लगने आई।

और फिर मैंने जान की चादर हटा दी. और उसने मुझे देख लिऔर और मेरे लंड को घुरने लगेगी। और मैंने उन्हें एक्टिंग की. तो उसने मुझे मेरे लंड की तरफ इशारा कर दिऔर।

मैंने जान के एक्टिंग करते हुए सॉरी सॉरी बोला और चादर ओढ़ ली। उसने जादू पोछा किऔर और ब्रेकफास्ट की त्यारी में लड़ गई। मैं भी नाडा धो के फ्रेश हुआ।

और फिर नाश्ता किऔर. और टीवी देखने लगा. और मेरी कामवाली भी नीचे बैठ गयी। फिर टीवी देखने लगेगी.

इतने में एक अंग्रेजी फिल्म में किसिंग सीन चल रहा था। मैंने वही रोक दिऔर और देखने लगा।

वो भी देखने लगेंगे. थोड़ी देर बाद उसने मेरे से बातें शुरू कीं। और बोलती तुम्हें सब अच्छा लगता है देखना।

मैने कहा किस्से अच्छे नहीं लगे. ये देखना सब देखते है। और फिर उसने पूछा कि तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है क्या? तो मैंने ना कर दी.

तो उसने पूछा क्यों तो मैंने कहा जैसा मुझे चाहिए वासी मिल नहीं रही ना। थो उसे पूछना कैसी गर्लफ्रेंड चाहिए. तुम्हें मैंने उससे सोचा था कि तुम जैसे बोलोगे। तो हमने एक नॉटी सी स्माइल देते हुए बोला अच्छा जी मेरे अंदर क्या है।

फिर मैंने उससे बोला मुझे तुम्हारा फेस बहुत पसंद है। और उसने बोला और क्या क्या अच्छा लगता है।

मैंने तुमसे कहा था कि मुझे तुम्हारे स्तन बहुत पसंद हैं। मैं तो करता हूँ एन्ने चुस्स ही लूं पर ऐसा हो नहीं सकता ना।

तो उसने बोला क्यों नहीं हो सकता तो मैंने बोला अच्छा तो क्या तुम्हारे बूब्स और होंठ चुस सकता हूँ?

तो हो सोचते हुए बोलीं हां पर एक शर्त है बस ये हो करोगे और कुछ नहीं। हालांकि मैंने तो बोला ही होगा तो बहुत कुछ।

और हां कर दी. और फिर उसने सोफे पर लिटाऔर और फिर उसके स्तन चूसने लगा।

मुँह में जीब फेरने लगा। हम दोनो ने सलाविऔर एक्सचेंज तक नहीं किऔर। 10 मिनट बाद मैंने उसके स्तनों को टूटा हुआ पा और उसने सूट के ऊपर से दबाने लगा।

और अपना चेहरा उसकी क्लीवेज में रगड़ने लगा। मुझे ये करना बहुत पसंद है। फिर उसका सूट उतार दिऔर और ब्रा फाड़कर फेंक दिऔर।

भाभी की बहन की चुदाई 5

थो वो बोली आराम से. मैंने उसके स्तन चूसने शुरू कर दिए और ज़ोर-ज़ोर से दबाने लगा। और थोड़ी देर बाद अपना हाथ हल्का-हल्का किश्कते हुए उसकी चूत तक के गऔर।

और हल्की – हकली सी शेलाने लगा। सलवार के ऊपर से वो आवाज़ करने लगेगी आआह्ह हम्म्म्म नहीं ये मात करूऊ ना उफ्फ्फ।

और मैं खड़ा हुआ अपना अंडरवियर उतार दिऔर। और लंड निकाल के उसे चूसने को बोला. वो झट से लंड को पकड़ कर मुँह में लेके चूसने लगेगी।

मुझे तो मजा आ रहा था। क्या बताओ भाईयो। मैने उसके मुँह की चुदाई कमरे चालू कर दी। और 15 मिनट के बाद उसके मुँह में जा घुसा। और उसने सारा माल पीके बोला मजा आगऔर।

और मैंने उसकी सलवार और पैंटी दोनों को उतार दिऔर। उसकी चूत गिली थी। और उसपे हल्के से बाल थे चूत एकदम गुलाबी थी। और मस्त थी. मैं झट से उसे चाटने लग गऔर।

वो मना करने लगी थोड़ी देर के बाद वो भी भूलभुलैऔर लेने लगी। आवाज़ निकलने लगी है। और तेज़ हाँ आह्ह अम्म्म हम्म्म्म तेज़ और तेज़।

और वो थोड़ी देर बाद जद गई। मैंने उसका सारा माल पी लिऔर. और उसे बेडरूम में लेके आऔर। उसे दीवार के साथ बांधकर उसकी एक टांग उठाई गई।

और लंड चूत के ऊपर रखा और धक्का दिऔर. लंड आराम से अंदर चला गऔर. मैंने उससे बोला तू तो बड़ी रंडी लगती है।

तो उसने बोला हां मेरे पति मुझे धंग से नहीं छोड़ा। और फिर मैं अपने हर एक जहा वो काम करने जाती हूँ। उस घर के मर्दी का रस पी चुकी हूं।

और ये सुनके माई शोक हो गऔर। पर जोश में आगऔर और उसे चोदने लगा तेज़ तेज़.कुछ देर के बाद उसे बिस्तर पर लिटाऔर और उसे दुबारा चोदने लगा.

वो बीएस आहह हम्म्म चोदो और तेज़। और तेज़ मज़ा आ रहा ले लो. इस रंडी का पूरा मज़ा आह्ह्ह्ह अम्म हन्नन्न ऊऊ।

फिर उसे गोदी बनाने लगा। तेज़ तेज़ थोकने लगा. 25 मिनट बाद मेरा जदने वाला था। तो उसने कहा अंदर ही डाल दो।

मैंने उसकी चूत में अपना सारा माल गिरा दिऔर.और लेट गऔर तो वो बोलि मैं आती हूँ. वो सुसु करने चली गयी. और मैंने सोचा अब इसकी गांड क्यों ना मारी जाए।

तो जब वो आई मैंने फिर से उसे घोड़ी बनने को बोला। तो बोली अभी मैं भरा नहीं क्या. मैंने बोला अब तो तीन गांड की चढाई होगी।

तो मैने उसे पकड़ने के लिए और उसे घोड़ी बनाकर लंड और उसकी गांड मारने के लिए कहा। अच्छे से और उसकी गांड के छेद पर लंड रखा। और धीरे धीरे दखे देने लगा।

और कामवाली बोली नहीं मैं मिस्टर जाउंगी। मैंने एक नहीं सुनी और लंड पूरा अंदर घुस गऔर।

फिर वो रोने लगी. बोली निकालो बाहर इसे। मैंने धीरे धीरे झटके देने लगा। उसकी चिकने की आवाज़ धीरे-धीरे भूलभुलैऔर में बदल गयी।

और फिर मैं उसे तेज़ तेज़ चोदने लगा। वो भी गाड़ को उछल उछल कर भूलभुलैऔर लेने लगेगी।

हालांकि मैंने उसे अपने ऊपर वाले आइने को बोला। और लंड को उसकी गांड में डाल के चोदने लगा। और स्तन को दबाने लगा। कुछ समय बाद मैं जडने वाला था। तो तेज तेज करने लगा ३० मिनट के बाद उसकी गांड में जड़फ गऔर।

और वो मेरे ऊपरी लेट गई. हम साथ में नहाये मैने उसे फिर से गांड और चूत में चोदा। और उससे जाते जाते बोला।

अब तू मेरी रंडी है. जाना बोलूंगा वहां चुदने के लिए तैऔरर हो जाओ। उसने भी मालिक जी से हंसते हुए बोला था।

नमस्ते मेरे दोस्तों मेरा नाम सोनी राइ है।  अगर आप सभी को हमारी Best Sex Story Hindi अछि लगी है तो आप हमे Comments मे बता सकते है। आगे आप को हमारी Daily Post की Update चाइये होतो आप हमे Twitter पर Follow कर सकते ह।