Naukrani ki Jabardast Chudai 2 – सेक्सी सावली नौकरानी की जबरदस्त चुदाई

Naukrani ki Jabardast Chudai 2 – सेक्सी सावली नौकरानी की जबरदस्त चुदाई

पिछला भाग पढ़े:- Naukrani ki Jabardast Chudai

नमस्ते पाठकों, Naukrani ki Jabardast Chudai 2 इस भाग को पढ़ने से पहले पिछला भाग ज़रूर पढे।

तो चलिए Hindi X Story शुरू करते है ये सेक्सी नौकरानी की चुदाई की Antarvasna Hindi कहानी

जैसा कि मैंने पिछले पार्ट में बताया कि मैं हूँ रोहित दिल्ली ( Karol Bagh ) से।

मैं 25 साल का हूँ और मेरी हाइट 5’10” है। कुछ समय के लिए अपनी आंटी के साथ रह रहा था। 

वहा रहने के दौरान मैंने उनकी नौकरानी सोनी को रसोई में फिंगरिंग करते देखा। 

फिर मैं उनको अपने कमरे में ले गया, और वहीं पर उनको चोद दिया। 

ये सब नताशा नाम की लड़की कैमरे में से देख रही थी। ये बहुत अच्छी नताशा थी।

 फिर मैं कुछ दिनों में अपने घर चला गया। जाने से पहले मेरे पास करने के लिए बहुत सा काम बाकी था। 

इसलिए उस रात के बाद हमें चुदाई करने का मौका नहीं मिला (या मुझे ये सिर्फ लगा)। मेरा आखिरी हफ्ता वहा था, और देर रात का वक्त था। 

मैं वापस जाने के लिए अपनी पैकिंग में व्यस्त थी, और अपने लैपटॉप पर कुछ काम कर रहा था। तभी दरवाजे पर किसी ने दस्तक दी। ये नौकरानी सोनी थी। 

वो अपने चेहरे पर उदासी लेकर अंदर आ गई, लेकिन उसने उदासी छुपाने की कोशिश की। 

मैं: ओह, अरे! सब ठीक है? 

सोनी: मुझे अपना लंड चूसने दो। 

मैं: क्या?! मैं अभी व्यस्त हूं. 

सोनी: मैं जानती हूँ. आप काम करते रहिए. मैं आपके काम करते हुए चूसूंगी। 

मैं: सोनी, मेरे पास इसके लिए टाइम नहीं है।

सोनी: तुम कुछ दिनों में जा रहे हो, और मैं कल घर जा रही हूँ। 

मैं: मैं जानता हूँ. थोड़ा आराम कर लो. 

सोनी: जब तक तुम मुझे फिर से भर नहीं देते, तब तक तो नहीं। क्या तुम्हें जरा भी आइडिया है कि इतने बाद माल अंदर भरने पर कितना अच्छा महसूस होता है? 

(फिर उसने अपनी टॉप उठाई, और पैंट नीचे अपने घुटनों तक कर दी) मैं तुम्हें अपने अंदर महसूस करना चाहती हूं। 

फिर उसने मेरी तांगे खोली और मेरी तांगो के बीच आ गई। झटके में मेरी पैंट उतर गई, और मेरा लंड उसके मुँह में चला गया। 

फिर वो हॉर्नी नौकरानी मेरा लंड चूसने के लिए मचलने लगी। वो लंड छोड़ना ही नहीं चाहती थी। 

वो लंड चूसते हुए बहुत अच्छी लग रही थी। मैं उसको वही वक्त चोदना चाहता था, लेकिन मेरे पास एक अच्छा और शरारती विचार था। 

मैं वेबसाइट पर गया, और वह नताशा के पेज पर जाकर उसको मैसेज किया। 

मैंने उनको लिखा कि हम कुछ मज़ा कर सकते हैं, और वो उसी वक़्त ऑनलाइन आ गयी।

नताशा: अरे! अब तुम मुझे क्या दिखाना चाहते हो, गंदे लड़के? मैंने कैमरा हिलाया और लंड चूस लिया सोनी की तरफ से। 

सोनी रुकना नहीं चाहती थी, लेकिन उसने हाथ हिलाकर नताशा को हेलो बोल दिया। वो लंड चूसते हुए विलाप करती रही। 

मैं: मैं जल्दी ही जाने वाला हूं। ये कल अपने घर जा रही है, तो इसने मेरे लंड पर एक मिनट में हमला कर दिया। 

नताशा (जल्दी-जल्दी): मुझे इसकी एनर्जी पसंद है। फिर नताशा ने अपनी शर्ट के बटन खोल दिए और अपनी ग्रे स्वेटपैंट को उतार दिया।

फिर उसने अपनी गीली चूत को छुआ और अपना होंठ काटा। 

सोनी: मुझे इस लंड पर बैठना है। नताशा मुझे उछालते हुए देख सकती है। 

मैं: क्या तुम मुझसे चुदाई की माँग कर रही हो? फिर मैंने अपना लंड उसके गले की गहराई में ढक दिया, और वो घुट गई। 

जब मैंने उनको छोड़ा तो वो ज़ोर-ज़ोर से सांस लेने लगीं और मुझे बिस्तर पर धक्का दे दिया। फिर मैंने उसको लैपटॉप तक रोका और सही जगह रख दिया। 

नताशा फिंगरिंग करके कराह रही थी। और सोनी ने अपनी पैंट निकाल कर अपने जिस्म को मेरी बॉडी पर पुश कर दिया। 

मैं: तुम कितनी प्यासी कुतिया हो! सोनी: तुम्हारे लंड को इससे कोई दिक्कत नहीं है। 

Naukrani ki Jabardast Chudai 2 –

नताशा: चोदो उसे, सोनी आह। इस लंड पर अब उचलो. नौकरानी ने जिस्म को मेरे ऊपर उछालते हुए मुझे किस किया।

 फिर उसने लैपटॉप लिया और उसको टेबल पर रख दिया। मैं पीठ के बाल सीधा ले गया, और सोनी का कामुक नग्न बदन मेरे बदन के ऊपर आके मेरे लंड पर बैठ गया, और उछालने लगा। 

उसके भरे हुए स्तन उछलने लगे, और वो ज़ोर-ज़ोर से कराहने लगी। 

नताशा: हे भगवान! तुम्हारी नौकरानी पूरी रंडी है। तुम दोनो बहुत हॉट हो आह आह।

मैं: सोनी भाड़ में जाओ, तुम्हारी चूत का पानी मेरे ऊपर बह रहा है। 

सोनी (आम रंडी से ज्यादा ज़ोर से आहें भरते हुए): हा! भर दो मुझे बेबी! अपनी रंडी नौकरानी को चोदो।

मैंने सोनी को टेबल के ऊपर धक्का दे दिया, जिसके लैपटॉप को भी धक्का लगने से साइड पर हो गया। 

सोनी का मुँह टेबल पर सीधा पड़ गया, और वो कैमरे में देख कर कराहने लगी। नताशा अपनी चूत को तेज़ी से रगड़ने लगी और उसकी आँखें बंद हो गयीं। 

मैं सोनी के जिस्म को अपने निजी खेल के मैदान जैसा ट्रीट कर रहा था। उसकी गीली चूत मेरे लंड पर टाइट हो रही थी। 

मैंने उसके होठों से होठों को मिलाकर उसका मुंह बंद किया। मैं (उसके मुँह में फुसफुसाते हुआ): मेरी आंटी दूसरे कमरे में है। 

चुदाई के दौरन अपना मुँह बंद रख रंडी! सोनी (मेरी ठुड्डी और होंठ को चाटते हुए): चिंता मत करो। मैंने उनको आज रात नशा दे रखा है। मैंने ये ध्यान रखा है कि उनकी दवा मजबूत हो। 

नताशा (अपनी छाती को रगड़कर, और चूत को मसलते हुए): वाह! ये एक बुरी घटिया रंडी है। 

मैंने फिर सोनी का चेहरा पकड़ा, और अपना लंड उसके अंदर डाल दिया, जिससे वो ज़ोर से चिल्लाई। 

मैं: नताशा, तुम रही हो। ये एक घटिया रंडी है। 

सोनी: सजा दो मुझे फिर। फिर मैंने कैमरे में नताशा को देखते हुए नौकरानी की गांड पर थप्पड़ मारा। 

नताशा घूम गई, और उसने मुझे अपनी गांड दिखाई। 

नताशा: सोचो मेरी चूत भी वही है। बेबी मैं चाहती हूँ कि तुम मुझे बुरी तरह से चोदो।

 मैं: हाँ मुझे तुम्हारी चूत भी चाहिए। क्या ये भी इस कुतिया की चूत की तरह गीली है? 

सोनी (कराहते हुए): मुझे नहीं लगता कि कोई भी औरत मेरे तरह लंड की इतनी भूखी हो सकती है। मैं: फिरसे कहो. 

सोनी: करो ना डैडी! फिर मैंने उसके चेहरे को टेबल पर रखा और पीछे से उसकी चूत की तबादला-तोड़ चुदाई करने लगा। 

मेरे शरीर से पसीना गिर रहा था और मेरा लंड अंदर जाने से थप-थप की आवाज़ आ रही थी। फिर उसने अपनी एक टांग उठाई और मैंने उसको जाँघ वाले इलाके से पकड़ लिया। 

उसके बाद उसने अपनी टांग मेरे गिर्द लपेट ली, और मैं चोदता रहा। अचानक से उसने मुझे रोका और मुड़ गई। 

फिर वो सीधी टेबल पर लेटी गई, और मुझे अपनी तरफ से खींचना पड़ा। मैने उसको डीप किस करते हुए उसकी चूत में लंड डाल दिया। 

हमारी चुदाई के साथ-साथ नताशा की आहें गूंज रही थी। मैं: मैं तुम्हें अपने वीर्य से भर दूंगा। जैसा कि तुमने मुझसे कहा था। 

नताशा (तेज़ी से रगड़ते हुए): ओह हाँ! भर दो उसकी चूत को अपने पानी से। मैं देखना चाहती हूं, उसकी चूत से तुम्हारा माल निकलते हुए। 

सोनी: बहुत मज़ा आ रहा है. मेरा निकलने वाला है. तुम भी मेरे साथ ही निकाल दो। मैं: नहीं, मुझे इस रंडी चूत को अभी भरना है।

फिर मैंने नौकरानी को कमर से पकड़ा और लगतार लंड के धक्के देता रहा। मुझे अपने लंड पर उसकी चूत महंगी हुई थी। 

फिर मैंने अपना सारा माल नौकरानी की चूत में निकाल दिया। मेरी माल की गर्मी को अपनी चूत में महसूस करके उसको बहुत संतोष महसूस हुआ। 

फिर मैंने लंड उसकी चूत से बाहर निकाला और उसके ऊपर लेट गया। फिर उसने मुझे माथे पर किस किया और मैंने उसके निप्पल चाटे। 

वो कराहते हुए अपनी चूत में फिंगरिंग करती रही और मैं उसका जिस्म चाट रहा था। फिर मैंने सोनी को उठाया और उसको अपने बिस्तर पर लिटाया। 

सोनी अपनी चूत में फिंगरिंग करने लगी, और मैंने ऊपर आकर उसके मुँह में लंड डाल दिया। वो खुद की फिंगरिंग करते हुए मेरा लंड चूसने लगी, और कराह रही थी। 

नताशा सोनी की चूत में से निकल रहे थे मेरे माल को देख रही थी, और दोनो औरतें खुद को छूते हुए एक-दूसरे को गहरे से देख रही थी। 

सोनी ने मेरा लंड अपने गले के अंदर तक ले लिया, और बहुत माल छोड़ा। उसका शरीर अचानक गया और नताशा को देख कर विलाप करने लगी। 

नताशा ने भी ज़ोर की आह भरी, और उसकी चूत ने भी पानी छोड़ दिया। वो कामप गई, और बिस्तर पर पीठ लगाकर बैठ गई। 

फिर मैंने सोनी को नताशा को बाय बोला और कॉल बंद कर दी। लेकिन हम दोनो ये सब जल्दी ही दोबारा करने के लिए उत्साहित थे, जब भी हमें मौका मिलता। 

ये Hindi Sex Stories with Pictures आपको किसी लगी ज़रूर बताये जल्द ही मिलते है एक वो नई कहानी के साथ जब तक के लिए अलविदा।

अगर आप लोग भी अपनी विचित्र कल्पनाओं को पूरा करना चाहते हैं,

तो मैं आपको इधर-उधर माथा मारना छोड़ कर cheapdelhiescorts.com वेबसाइट पर जाने की सलाह दूंगा। वहा बहुत सारी सेक्सी भभियाँ और लड़कियाँ आपका इंतज़ार कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *