रात भर करी वर्जिन गांड की चुदाई » Virgin Gand Ki Chudai

रात भर करी वर्जिन गांड की चुदाई » Virgin Gand Ki Chudai

हेलो दोस्तों, ये मेरी कहानी Virgin Gand Ki Chudai की है।

मेरा नाम आकाश है और मेरी उम्र 22 है , मैंने कभी गे सेक्स किया तो नहीं है,
लेकिन मैं जानता हूँ मैं गे हूँ क्योंकि मुझे लड़कियों को देख कर कोई इंटरस्ट नहीं आता है। 

एक जब मैंने अपनी ये बात एक दोस्त को बताई तो उसने मुझे कहा ये आम बात है कई लोगो के साथ होता है। 

तुझे लड़को में मज़ा आता है तो कोई बात नहीं मैं तुझे मज़े देता हूँ। 

फिर जो हुआ, वो मज़ेदार था।

चलिए Hindi Gay Sex Stories शुरू करते बिना वक्त खराब किये।

मेरे दोस्त का लंड 7 इंच था और मेरी गांड को टच कर रहा था। 

मैंने उसको बोला हटने को, तो उसने पूरा खोल के मेरे हाथ में दे दिया। उसका मोटा लंड मेरे हाथ में नहीं आ रहा था।

फिर वो बोला: हिलाओ धीरे-धीरे।

और मैंने उसको हिलाना शुरू किया, और वो मोटा हो गया।

फिर उसने मेरे मुँह में लंड दे दिया। मोटा लंड आधे मुँह में ही अटक गया था। उसने मेरी गांड को चाटना शुरू किया, और मैं मस्त हो गया।

मुझे जोश आ रहा था. फिर उसने मेरी गांड पर अपना मोटा लंड रखा और रगड़ने लगा। ( Virgin Gand Ki Chudai )

उसके बाद लंड पर थूक लगाई और धीरे से मेरी गांड में घुसा दिया। पर वो घुस नहीं रहा था.

फिर उसने ज़ोर से धक्का दिया, और जैसे ही उसने धक्का दिया, गांड की सील टूटने की आवाज़ आई, और खून निकलने लगा। 

मुझे दर्द हो रहा था. मैंने लंड निकाल दिया उसका क्योंकि दर्द बहुत हो रहा था। फिर उसने दोबारा लंड घुसाया और इस बार लंड अंदर जा रहा था।

मेरी गांड फटती जा रही थी। इतना मोटा लंड, उसकी मेरी गांड में समा रहा था। उसने धीरे-धीरे झटका देना शुरू किया। फिर मुझे भी मज़ा आने लगा। 

उस रात को उसने मुझे 4 बार चोदा था। उसके बाद हमारी बहुत बार मुलाकात हुई और उसने मुझे छोड़ दिया।

मेरी गांड के छेद को उसने पूरा बड़ा कर दिया, और मन भर देता था चुदाई करके। बहुत मज़ा आता था मुझे उसके साथ चुदने में। 

उसके वो मोटे लंड में जो मज़ा आता था, और किसी में नहीं मिलता।

एक बार मैं, वो, और उसका एक दोस्त हम तीनो लोग घूमने गये थे। 

रात को कमरे में उसने मुझे चोदना शुरू किया, पर उसके दोस्त ने देख लिया। फिर मुझे उसके दोस्त से चुदाई करनी पड़ी।

उन दोनो ने मुझे पूरी रात नहीं खिलाया। गांड मरने की आदत सी हो गई थी। अब जब मेरा मजनूं था, मैं उसके साथ रात भर चुदाई करता था। 

फिर मैं शहर आ गया. यहां पर मुझे कोई मिल नहीं रहा था और मेरी गांड की गर्मी मुझे पागल कर रही थी।

मुझे बहुत परेशानी थी गांड में लंड लेने को। फिर मैंने एक दोस्त बनाया. उसको भी गांड मारने का बहुत शौक था। 

पर उसको कहीं मिल नहीं रही थी। मैंने उसको बोला नहीं था कि मैं ये सब करता था। 

उसने बोला उसका गांड मारने का बहुत मन करता था। फिर मैने उसको बताया.

मेरे लिए यह अच्छा मौका था क्योंकि मुझे भी किसी लंड की जरूरत थी और उसको भी गांड की जरूरत थी। दोनो को एक दूसरे की जरुरत थी। ( Virgin Gand Ki Chudai )

मैंने उससे कहा: अगर तुम्हें गांड मारनी है तो?

उसने बोला: तुम ये सब तो करते नहीं, फिर क्यों बोल रहे हो?

मैंने उसको बोला: तुम्हें चाहिए तो ट्राई करो।

फिर उसने मुझे अपना घर बुलाया। मैं गया, क्योंकि मुझे गांड की गर्मी को शांत करना था, 

और वो किसी लंड के पानी से ही शांत होती है। उसने चोदने से पहले गोली खाई और बोला-

वो: इससे और मजा आएगा.

@₹5K-15K/ Call Girls – Delhi Escorts ( Virgin Gand Ki Chudai )

उसका लंड इतना मोटा नहीं था, पर इतना था कि मेरी गांड में घुस सकता था। उसने मुझे नीचे बिठाया, 

और लंड को मुँह में दे दिया और मेरे बाल पकड़ के आगे-पीछे करने लगा। और मैंने लंड को पूरा मुँह में भर लिया, और अंदर-बाहर करने लगा।

मेरी सांस रुक जाती थी, जब वो पूरा लंड घुसा लेता था। पर मजा बहुत मिलता था लंड को मुँह में लेकर चूसने में। 

और फिर उसने मुझे बिस्तर पर लिटाया, और मेरे दोनों पैरों को अपने कंधों पर रख लिया। फिर उसने मेरी गांड की छेद पे तेल लगाया और अपने लंड पे भी।

फिर वो मुझे बोला: घुसा रहा हूँ। ( Virgin Gand Ki Chudai )

मैंने बोला: आराम से घुसना।

और फिर उसका लंड घुसे ही मैंने ज़ोर से चिल्लाया। उसने मेरे मुँह पर अपना हाथ रख दिया। 

उसके बाद उसने ज़ोर-ज़ोर से चोदना शुरू किया। मैं आह आह करने लगा.

थोड़ी देर करने के बाद उसने मुझे उल्टा कर मेरी गांड को अपनी तरफ किया, और मुझे घोड़ी बना दिया। 

उसके बाद लंड घुसाया. इस बार लंड को डालता-निकालता. मेरी गांड का छेद बड़ा हो गया था पहले से ही, तो मुझे ज्यादा दर्द नहीं हुआ।

उसने मुझे सारी रात छोड़ा। उसका पूरा मन भर गया, क्योंकि 7 बार किया था रात में उसने। मैने भी इतनी बार चुदाई नहीं की थी। 

उसका मुझे चोदना बहुत पसंद आ गया था। उसको मेरी गांड बहुत अच्छी लगने लगी थी, और मेरी गांड बहुत बाहर निकली थी फूली-फूली हुई।

गांड मेरी देख उसका मूड बन जाता था। जब उसको मौका मिलता था, तब मेरी गांड के पीछे पड़ जाता था। 

उसके बाद उसकी चूत में इंटरेस्ट ही ख़त्म हो गया था, क्योंकि गांड थी ही मेरी। ऐसे ही गांड देख कर उसका हमेशा खड़ा हो जाता था, 

और मैंने भी उसको कभी मना नहीं किया। क्योंकि मेरा भी मन नहीं भरता था गांड मरवाने से। ( Virgin Gand Ki Chudai )

मुझे भी रोज चाहिए होता था लंड। फिर मैं उसके साथ ही रहने लगा। हम दोनो रात को चुदाई करते थे। 

1 साल तक मैं उसके साथ था. एक भी दिन ऐसा नहीं गया, जिस दिन उसने मुझे नहीं छोड़ा। चोदने के चक्कर में वो डबला हो गया था, और मैं मोटा।

मेरी गांड भी बहुत ज्यादा बाहर निकल चुकी थी। मैं जब भी न्यूड होता था, वो मुझे चोदने के लिए आ जाता था। 

मेरी उसकी यही दोस्ती थी। बहुत चोदा उसने मुझे. फिर मैं गाँव आया और वहीं मुझसे मेरी पुराने दोस्त से मुलाकात हुई।

उसको भी बहुत दिनों से कोई मिला नहीं था। उसका लंड पूरा प्यासा था गांड के लिए। 

फिर उसने मुझे अपने घर बुलाया रात को,
और मैं कैसे मना कर सकता था।
मेरी गांड को नहीं पता क्यों लंड चाहिए ही होता था रोज रोज।

फिर मैं गया रात को. उसने मुझे फट से न्यूड कर दिया। उसको जैसा कोई मिला ही नहीं था,
वो इतना पागल हो गया था मेरी गांड मारने के लिए।
फिर जैसा मैं लेता हूँ, वो तुरन्त ही अपना लंड घुसाने लगा।

लेकिन लंड जा नहीं रहा था क्योंकि 3 दिनों से लंड गया नहीं था। छेद टाइट हो गया था.
फिर उसने थूक लगाई और लंड घुसा दिया। फिर वो ज़ोर-ज़ोर से करने लगा।

मुझे पहली चुदाई याद आने लगी, जब मैं उसको रोक रहा था, पर वो सुन नहीं रहा था,
और छोड़ता जा रहा था। उसका पानी 15 मिनट के बाद निकला,
और उतने समय में मेरी हालत ख़राब हो गई थी। ( Virgin Gand Ki Chudai )

इतना ज़ोर का छोड़ रहा था वो, पहली बार वाले से भी ज़्यादा ज़ोर का। पानी निकालने के बाद उसने लंड को मेरे मुँह में डाल दिया। 

फिर मैंने उसके लंड को अपने मुँह में रख कर चाटने लगा।

उसका थोड़ा पानी मुँह में आ गया था, फिर भी उसका लंड उतना ही जोश में था,
जैसे कि उसका अभी ख़त्म ही नहीं हुआ हो।
मुँह में से निकालने के बाद उसने लंड गांड में डाल दिया। ( Virgin Gand Ki Chudai )

दोस्तों मैंने पूरी रात उसे चोदा था और जितने दिन मैं गांव में था रोज चुदाई होती थी मेरी। ऐसे करते-करते मैंने उससे 200+ बार चुदाई करवाई। और भी मज़ेदार गे सेक्स पढ़ते रहे Indian Gay Site Com पर।