भाई ने तोड़ी बहन की चूत की सील – Bhai Ne Mari Bahan Ki Chut

भाई ने तोड़ी बहन की चूत की सील – Bhai Ne Mari Bahan Ki Chut

हेलो दोस्तों, मैं फिर से यहाँ एक लड़की की सेक्स कहानी बताने आई हूँ जिसका नाम है “भाई ने मेरी चूत चोदी और मेरी चूत की सील तोड़ दी”। ( Bhai Ne Mari Bahan Ki Chut )

मैं आपको पिछले 1 साल पहले की घटना के बारे में बता रही हूँ जो मेरे साथ हुई थी। यह Bhai Bahan Sex Story है।

मेरा नाम सोनी है और मैं नियमित रूप से Hindi x Story की मुफ्त सेक्स कहानियाँ पढ़ती हूँ। मेरी उम्र 23 साल है और जहाँ तक मेरा साइज़ का सवाल है तो यह 32-30-36 है।

मेरा रंग बहुत गोरा है। अब मैं आपको अपने परिवार के बारे में बताती हूँ।

मेरे घर में मेरी माँ, पिताजी, भाई और मैं ही हैं। मैं अपनी बी.कॉम के अंतिम वर्ष में पढ़ रही हूँ।

हमारे घर में 2 कमरे और एक बाथरूम है। इसके साथ ही किचन भी बना हुआ है।

मेरे माता-पिता एक कमरे में सोते हैं और मैं और मेरा भाई दूसरे कमरे में सोते हैं। मेरे भाई की उम्र 20 साल है। वह 12वीं क्लास में है।

मार्च का महीना चल रहा है और होली आने वाली थी। हम कॉलोनी में होली बहुत धूमधाम से मनाते हैं।

होली से एक दिन पहले की बात है। होलिका दहन करके घर आकर सभी सोने जा रहे थे।

मम्मी-पापा अपने कमरे में सोने चले गए थे और मैं भी हाथ-मुँह धोने के लिए अपने बाथरूम में जा रही थी। बाथरूम का दरवाज़ा थोड़ा खुला हुआ था।

जैसे ही मैंने दरवाज़ा धक्का दिया, दरवाज़ा खुल गया। अंदर मैंने देखा कि मेरा भाई अपने लंड को हाथ में लेकर टॉयलेट करने की मुद्रा में खड़ा था, लेकिन ऐसा करने की बजाय वो अपने लंड को आगे-पीछे कर रहा था।

उसकी आँखें बंद थीं। वो अपने लंड को हाथ में लेकर तेज़ी से हिला रहा था। उसे मेरे आने का पता ही नहीं चला।

मैंने एक पल के लिए उस नज़ारे को देखा और वापस अपने कमरे में आ गई। मेरा दिल ज़ोर-ज़ोर से धड़क रहा था।

मैंने पहली बार ऐसा लंड देखा था। इससे पहले मैंने कभी किसी मर्द का लंड नहीं देखा था। इसलिए मेरी हालत खराब हो रही थी।

Bhai Ne Mari Bahan Ki Chut – कुछ देर बाद मेरा भाई बाथरूम से बाहर आया और बिस्तर पर सो गया।

मैं उस रात सो नहीं पाई। मुझे बार-बार अपने भाई का लंड अपनी आँखों के सामने खड़ा दिखाई दे रहा था।

मैंने पहले कभी अपने भाई को उस नज़र से नहीं देखा था, लेकिन आज उसका लंड देखने के बाद मेरे मन में कुछ अलग ही एहसास हो रहा था।

फिर मैं अपने भाई के लंड के बारे में ऐसे ही सोचते-सोचते सो गई।

अगले दिन मैं अपने भाई के साथ गली में होली खेलने गई। मेरे साथ मेरी सहेलियों के बॉयफ्रेंड भी थे।

वो उनके साथ होली खेलने में लगा हुआ था। बहाने से वो उसके टॉप में हाथ डालकर रंग लगा रहा था। कई बार तो उसने नीचे की टाँगों के बीच में भी रंग लगा दिया था।

काफी देर तक होली खेलने के बाद मैं अपने घर वापस आ गई। अब मुझे नहाने के लिए बाथरूम जाना था।

मैं बाथरूम में गई और अंदर जाकर नहाने लगी। उसके बाद मैं बिना कपड़े पहने ही बाहर आ गई। मुझे नहीं पता था कि मेरा भाई भी कमरे में आ गया है।

Bhai Ne Mari Bahan Ki Chut

जब मैं बाहर आई तो मेरा भाई अपने बिस्तर पर लेटा हुआ था। मैंने देखा कि वो मेरे नंगे बदन को ध्यान से देख रहा था.

फिर जब उसने देखा कि मैं उसे देख रही हूँ तो उसने अपनी आँखें बंद कर ली और सोने का नाटक करने लगा. फिर मैंने एक तरफ जाकर अपने कपड़े पहन लिए.

रात का खाना खाने के बाद मैं बहुत जल्दी सो गई. उस दिन होली खेलने के बाद मैं बहुत थक गई थी.

फिर रात के करीब 12 बजे मुझे अपने पेट पर कुछ महसूस हो रहा था. जब मैंने आँखें खोली तो मेरे भाई का हाथ मेरे नंगे पेट पर चल रहा था.

मुझे लगा कि शायद सोते समय मेरा टॉप ऊपर हो गया होगा. मैं वैसे ही लेटी रही और सोने का नाटक करती रही.

मैंने अपने भाई को यह एहसास नहीं होने दिया कि मैं नींद से जाग गई हूँ और मुझे उसकी हरकतें महसूस हो रही हैं. मैं अपने भाई का हाथ हटाए बिना ऐसे ही लेटी रही. मुझे भी अच्छा लग रहा था.

फिर धीरे-धीरे मेरे भाई ने अपने हाथ से मेरा टॉप ऊपर उठाना शुरू कर दिया. मैंने नीचे से ब्रा भी नहीं पहनी हुई थी.

मेरी आदत थी कि मैं रात को सोते समय ब्रा पहनकर नहीं सोती थी. टॉप ऊपर होते ही मेरे स्तन नंगे हो गए. अब मेरे अंदर भी सेक्स उठने लगा था.

मेरे भाई का हाथ मेरे निप्पल पर आ गया और उन्हें दबाने लगा. अब मुझे इसमें थोड़ा-थोड़ा आनंद आने लगा था।

वो मेरे निप्पल दबाते हुए मेरे निप्पल को भी छेड़ रहा था. अब मैं गर्म होने लगी थी. अब मेरे भाई की हिम्मत बढ़ने लगी थी.

कुछ देर तक मेरे निप्पल को छेड़ने के बाद मेरे भाई ने अपना हाथ मेरी लोअर पर रख दिया. वो मेरी पैंटी के ऊपर से ही मेरी चूत को सहलाने लगा.

अब मैं गर्म हो गई और मेरे मुँह से हल्की सी आह निकल गई. जब मेरे भाई ने देखा कि मैं जाग रही हूँ तो वो अपना हाथ हटाने लगा लेकिन मैंने उसका हाथ पकड़ लिया और उसे अपनी चूत पर रखवा दिया. अब उसे कोई डर नहीं था.

वो भी समझ गया था कि मैं भी उसकी हरकतों का मज़ा ले रही हूँ. वो अब अपनी बहन की चूत को सहलाने लगा. उसके बाद तो मैं भी नहीं रह पाई. अपने हाथ से अपने भाई के लंड को टटोलते हुए मैंने उसका लंड अपने हाथ में पकड़ लिया.

उसका लंड पूरी तरह से तना हुआ था. मैंने उसका लंड पकड़ा और दबा दिया. पहली बार मैंने किसी मर्द का लंड अपने हाथ में पकड़ा था. मुझे बहुत मज़ा आया.

मेरा कोई बॉयफ्रेंड भी नहीं था इसलिए मेरे अंदर लंड को लेकर बहुत उत्सुकता थी. मैं अपने भाई के लंड को उसके लोअर के ऊपर से ही हाथ में लेकर सहला रही थी.

इसी बीच मेरे भाई ने मेरा लोअर निकाल कर नीचे कर दिया. अब मैं नीचे से भी नंगी हो रही थी. मेरी चूत पर सिर्फ़ मेरी पैंटी ही रह गई थी. मेरी चूत से पानी निकलने लगा था.

फिर मेरे भाई ने मेरी पैंटी भी निकाल दी. उसके बाद उसने मेरी पैंटी खींच कर मेरी टाँगें पूरी नंगी कर दी.

मैं अपने भाई के सामने पूरी नंगी लेटी हुई थी और उसके लंड को हाथ में पकड़ कर जोर-जोर से सहलाने का मज़ा ले रही थी.

मेरी पैंटी निकालने के बाद मेरा भाई अपने हाथों से मेरी चूत को रगड़ने लगा. मैंने अपना हाथ अपने भाई के लोअर पर रख दिया.

वो भी समझ गया कि मैं उसका लंड निकाल कर हाथ में लेना चाहती हूँ. उसने अपना लोअर नीचे कर दिया और अंडरवियर भी सरका दिया. मेरे भाई का लंड पूरी तरह से खड़ा हो चुका था.

मैंने उसके गरम लंड को अपने हाथ में भर लिया. उसके बाद वो मेरी चूत को सहलाने लगा और मैं भी उसका लंड सहलाने लगी. अब मेरे मुँह से भी कामुक सिसकारियाँ निकल रही थीं.

मेरे भाई का लंड बहुत मोटा और लंबा था. उसने अपना लंड मेरे मुँह में डाल दिया.

मैं उसका लंड मुँह में लेकर चूसने लगी. मैंने लंड का स्वाद पहली बार लिया था. मुझे अच्छा नहीं लग रहा था, पर कुछ देर बाद मुझे फिर से लंड चूसने में मज़ा आने लगा.

मेरा भाई मेरी चूत में उंगली करने लगा. वो मेरी चूत में उंगली कर रहा था. उसका लंड मेरे मुँह में था. उसका लंड मेरे गले तक जा रहा था.

फिर जब मेरा दम घुटने लगा, तो मैंने उसे अपने सर से हटाना शुरू कर दिया. उसके बाद वो सीधा हो गया. उसने अपनी उंगली मेरी चूत से बाहर निकाल ली.

फिर वो मेरी चूत चाटने लगा. जब मेरे भाई की गरम जीभ मेरी बहन की चूत पर लगी, तो मुझे बहुत मज़ा आया.

अब मुझे समझ में आने लगा कि मेरी सहेलियों ने अपने बॉयफ्रेंड क्यों रखे थे. वो भी अपनी जीभ से अपनी चूत को शांत कर रही होगी.

उसके बाद मेरे भाई ने कुछ देर तक मेरी चूत चाटी और फिर उसने मेरी टाँगें फैला दीं. मैं उसकी हर हरकत देख रही थी.

उसने लंड मेरी चूत पर रखा और फिर लंड को मेरी चूत पर रखकर मेरी चूत पर रगड़ने लगा. पहली बार मुझे अपनी गर्म चूत पर किसी मर्द के लंड का स्पर्श महसूस हुआ.

जब मैंने लंड को अपनी चूत से छुआ तो मेरे बदन में आग लग गई. मैं बिस्तर पर लेटे-लेटे तड़पने लगी.

मेरा भाई अपना लंड मेरी चूत के मुँह पर रगड़ रहा था. मेरी चूत बहुत गर्म थी. अब मुझे खुद भी लग रहा था कि वो अपना लंड मेरी चूत में डाल दे.

अब मेरा भाई भी नहीं रह पा रहा था. उसने मेरी चूत पर थूक दिया. फिर उसने अपना लंड मेरी चूत के ऊपर सेट किया और धक्का देने लगा और मैं चीख उठी ‘उम्म्ह… अहह… हय… ओह…’

Bhai Ne Mari Bahan Ki Chut

लेकिन उसी समय उसने अपना हाथ मेरे मुँह पर रख दिया.

मेरी आँखों से आँसू निकल आए. उसके लंड ने मेरी चूत में बहुत दर्द कर दिया था. मम्मी-पापा बगल के कमरे में सो रहे थे. इसलिए मैं चिल्ला भी नहीं पाई. फिर कुछ देर तक वो ऐसे ही मेरे ऊपर लेटा रहा.

उसके बाद उसने धीरे-धीरे लंड को मेरी चूत में घुमाया तो मुझे फिर से दर्द होने लगा.

मैंने गर्दन उठाई तो देखा कि मेरी चूत से खून निकल आया था. चूत से खून निकलता देख मैं डर गई. फिर भाई ने कहा कि चिंता मत करो, उसकी चूत की सील टूट चुकी है. फिर वो फिर से मेरे निप्पल पीने लगा. मैं आराम से लेट गई.

दो-तीन मिनट तक वो मेरे निप्पल चूसता रहा और उसके बाद उसने लंड को मेरी चूत में पेलना शुरू कर दिया. अब मुझे थोड़ा अच्छा लग रहा था. फिर उसने अपनी स्पीड बढ़ानी शुरू कर दी.

उसका मोटा लंड मेरी चूत में फंसा हुआ था लेकिन पहली बार लंड चूत में लेकर मुझे बहुत मज़ा आ रहा था.

उसके बाद वो मेरी चूत में स्पीड से धक्के मारने लगा. अब मुझे बहुत मज़ा आने लगा और मैं अपनी चूत की चुदाई का मज़ा लेते हुए अपने भाई के लंड से चुदने लगी.

कुछ देर बाद मैंने अपने भाई के लंड को अपनी चूत में और अंदर लेने के लिए अपनी टाँगें उसकी कमर के इर्द-गिर्द लपेट लीं. भाई का लंड मेरी चूत में गहराई तक जाने लगा. अब मुझे बहुत मज़ा आ रहा था.

मेरी चूत पर उसका लंड लग रहा था, तो ऐसा लग रहा था कि मैं लंड चूत में लेकर ही चुदती रहूँगी. आज मुझे पता चल रहा था कि मेरी सभी सहेलियाँ अपने बॉयफ्रेंड के साथ सेक्स करके कितनी खुश रहती हैं.

जब लंड चूत में जाता है तो बहुत मज़ा आता है. मुझे आज इस बात का पता चला। मेरा भाई तीस मिनट तक मेरी चूत चोदता रहा। उसके लंड ने मेरी चूत को फैला दिया।

उसके बाद मुझे ऐसा लगा कि मैं मर जाऊँगी। मैंने अपने भाई को अपनी बाहों में कस कर पकड़ लिया और मेरा पूरा शरीर सुन्न होने लगा। मेरी चूत से एक नदी बह निकली और मैं धीरे-धीरे शांत होने लगी।

उसके बाद मेरे भाई की स्पीड की वजह से मेरी चूत में गूँज उठने लगी। उसकी स्पीड पहले से ज़्यादा तेज़ होती जा रही थी। अब मेरी चूत में दर्द होने लगा था। मैंने उसे हटाने की कोशिश की लेकिन वो रुक नहीं रहा था।

फिर दो मिनट के बाद उसकी रफ़्तार धीमी होने लगी. मेरे भाई ने अपना वीर्य मेरी चूत में छोड़ दिया. सारा वीर्य मेरी चूत में डालने के बाद वो भी शांत हो गया.

उस रात भाई ने मेरी चूत दो बार चोदी. सुबह भाई का बड़ा लंड मेरी चूत में चूसे जाने की वजह से मैं चल नहीं पा रही थी. मैं बड़ी मुश्किल से चल पा रही थी. उस दिन से भाई ने मेरी चूत चोदना शुरू कर दिया.

मेरा भाई मेरी शादी होने तक मेरी चूत चोदता रहा.

भाई से पहली चूत चुदवाने के बाद मुझे भी लंड लेने की तलब होने लगी थी. उसके बाद मैंने किस-किस का लंड अपनी चूत में लिया और शादी से पहले किन-किन लंड से चुदी, ये सब मैं आपको अपनी अगली कहानियों के ज़रिए बताऊँगी.

भाई की मेरी चूत चोदने की ये कहानी आपको कैसी लगी, मुझे मेल करके ज़रूर बताएँ.

नमस्ते मेरे दोस्तों मेरा नाम सोनी राइ है।  अगर आप सभी को हमारी Bhabhi ki Chudai Ki Story अछि लगी है तो आप हमे Comments मे बता सकते है। आगे आप को हमारी Daily Post की Update चाइये होतो आप हमे Twitter पर Follow कर सकते ह।