Gand Chudai Ki Kahani 3 ऑफिस की लड़की की गांड चुदाई की कहानी भाग – 3

Gand Chudai Ki Kahani 3 ऑफिस की लड़की की गांड चुदाई की कहानी भाग – 3

This entry is part in the series Office Me Ladki Ki Chudai

पिछला भाग पढ़े:- Gand Chudai Ki Kahani 2

नमस्ते पाठकों, Gand Chudai Ki Kahani 3 इस भाग को पढ़ने से पहले पिछला भाग ज़रूर पढे।

मेरा नाम अमरजीत हैं और आपकी सेवा में फिर से हाजिर Hindi X Story लेकर।

आप सब जानते हैं कि मैं एक कॉलबॉय हूं और अपनी Real Hindi Sex Stories पोस्ट करता हूं तो अपनी एक सच्ची कहानी के साथ हाजिर हूं। 

अपनी एक सच्ची कहानी के साथ। मेरी उम्र 29 है और मेरे लंड का साइज़ 6 इंच है। दिखने में स्मार्ट लंबा हू 6 फीट हाइट है।

तो अब कहानी पर आते हैं। जैसा कि आप जानते हैं मैंने सोनी को बिस्तर के किनारे लिटाकर उसकी गांड में लंड डालने लगा और सिर्फ लंड के आगे का टोपा ही अंदर गया और वो छटपटाने लगी। 

पर मैंने उसको दबा कर पकड़ा हुआ था। फिर मैंने थोड़ा जोर और लगाया तो धीरे से लंड अंदर हुआ। उसकी गांड बहुत टाइट थी और उसकी आंखें एकदम से चोदी हो गई। 

वो बुरी तरह गुऊ गुऊ आवाज़ निकालने लगी अपने मुँह से और मेरे नीचे से निकालने लगी। पर मैंने उसे पकड़कर मारा था और लगातार उसकी चुचियों को दबा रहा था। ( Gand Chudai Ki Kahani 3 )

उसकी आँखों से थोड़ा पानी आने लगा था। मैंने सोचा जितना धीरे करूंगा उतना ही ज्यादा, जब तक इसको दर्द होगा। 

फिर मैंने लंड को थोड़ा सा बाहर खींचा और सोनी को अच्छे से पकड़ कर पूरी रफ्तार से धक्का मारा। जिसने मेरे बस एक इंच लंड बाहर छोड़ा उसकी गांड से। 

बाकी पूरा अंदर चला गया। वो तो जैसे पागल हो गई और बहुत बुरी तरह छटपटा लगी। मेरे नीचे से निकालने की कोसिस करने लगी और उसने अपने होठों को मेरे होठों से चुरा लिया। 

और बहुत तेज़ चिल्लाई अहा माँ मर गई चोर दो मुझे अमरजीत प्लीज… निकालो बाहर मुझे नहीं करना आहा माँ चोर दो प्लीज… और बुरी तरह चीखने लगी और रोने लगी। 

पर मैंने उसको कस कर पकड़ रखा था और उसकी गर्दन को पीछे से चूम रहा था और उसकी चुचियों को दबा रहा था। 

सोनी- आआहा माँ मर गई प्लीज अमरजीत निकालो अपना लंड.. मुझे नहीं करना बहुत दर्द हो रहा है.. मर जाउंगी 

मैं प्लीज मत करो… (ये सब लगभाग वो बुरी तरह चिल्लाते हुए बोल रही थी). लेकिन दोस्तो आपने जाना है कि अगर इस समय मैं उसको चोर देता तो वह कभी यह मजा नहीं लेती। 

तो मैंने दोबारा उसके होठों को अपने होठों से चिपका लिया और चूसने लगा। थोड़ी देर लंड को बिना हिलाये उसकी गांड में डाले रखा। उसका रोना धीरे-धीरे बंद हो गया पर थोड़ा छटपटा रही थी। 

फिर 5 मिनट के बाद मैंने धीरे-धीरे लंड को आगे पीछे किया तो वो थोड़ी और छटपटी और मुझे दूर होने के लिए मजबूर कर दिया। ( Gand Chudai Ki Kahani 3 )

पर मैंने नहीं छोड़ा पर. फिर दो मिनट के बाद थोड़ी शांति हो गई। शायद अब उसका दर्द थोड़ा कम हो गया था। 

मैंने एक हाथ नीचे ले जाकर उसकी चूत को भी रगड़ना शुरू कर दिया। जिसे थोड़ी राहत मिली और वो थोड़ी सिसिकियाँ लेने लगी। 

सोनी- आआह्ह अमरजीत मार दिया तुमने बिल्कुल आआह्ह्ह्ह धीरे करो दर्द हो रहा है प्लीज थोड़ा धीरे…

मैं धीरे धीरे उसकी गांड को चोद रहा हूँ और उसकी चूत को एक हाथ से सहला रहा हूँ। दूसरे हाथ से उसकी चुची को दबा रहा है और पीछे से उसकी गर्दन को चूम रहा है। 

5 मिनट के बाद वो थोड़ा एन्जॉय करने लगी और उसकी चूत ने भी पानी चूमना शुरू कर दिया। मैंने अपने धक्कों की स्पीड धीरे-धीरे तेज़ कर दी। 

सोनी- आआह्ह्ह्ह अमरजीत आहाहा सिसिसिसिस ह्म्म्म्म आह्ह्ह्ह्ह… धीरे करो अभी थोड़ा दर्द हो रहा है जान, मार डाला आज तुमने आहा..

ऐसे ही 10 मिनट चोदने के बाद मेरा पानी निकालने वाला था तो मैंने पूछा कहां से पानी निकाला?

सोनी- अंदर ही निकाल दो आहह पूरा पानी आआह पर थोड़ा धीरे करो। दोस्तो आप तो जानते है जब पानी निकालने वाला हो तो धीरे-धीरे होगा। 

पर मैंने सोचा नई लड़की इसलिए खुद पर थोड़ा कंट्रोल किया और थोड़ा धीरे उसकी गांड को चोदते हुए पानी निकाल दिया। ( Gand Chudai Ki Kahani 3 )

जैसे ही मेरा गरम पानी उसने अपनी गांड में मर्द हुआ तो उसकी चूत ने भी पानी छोड़ दिया। वो थोड़ा अकड़ा गई क्योंकि उसकी चूत भी झड़ गई थी। 

हम दोनो थोड़ी देर ऐसे ही लेते रहे और अपनी सांसो को कंट्रोल करते रहे। अब मेरा लंड भी बैठ गया था तो उसकी गांड से बाहर निकल गया। 

Gand Chudai Ki Kahani 3

जब मैंने उठाया तो उसकी गांड से मेरा पानी और थोड़ा खून मिक्स होकर निकल रहा था। सोनी को थोड़ा दर्द भी हो रहा था जिसकी वजह से वो थोड़ा कर रही थी। 

फिर मैंने सोनी को खड़ा किया तो वो थोड़ा लंगड़ाकर चलने लगी और थोड़े दर्द की वजह से भी आह्ह निकल रही थी। जब हम दोनो बाथरूम जाने के लिए दूसरी तरफ घूमे तो देखा उसकी दोस्त खड़ी है। 

वो हमें देख कर मुस्कुरा रही थी। तो सोनी उसे देख कर शर्मा गई और बोली साली तू अंदर क्यों आई?? 

मोनी-साली इतने जोर से चिल्लाती हो कि मैं क्या पूरा मोहल्ला आ जाता हूं। वो तो मैंने म्यूजिक बजाया था इसलिए कोई नहीं आया।

फिर हम दोनो बाथरूम की तरफ जाने लगे तो देखा कि मोनी मेरे लंड की तरफ देख रही थी। जो समय मुरझाया हुआ था और थोड़ा गीला था। ( Gand Chudai Ki Kahani 3 )

मेरी आंखें उसकी आंखों से मिली तो वो शर्मा गई और एकदम नज़र नीची कर ली। तब हम दोनो बाथरूम गए और जाकर गीजर ऑन किया और गरम पानी से सोनी की गांड की सफाई की। 

फिर हम दोनो ने शॉवर ऑन किया और दोनो नहाये गरम पानी से। नाहा कर सोनी को थोड़ा आराम मिला पर उसकी चाल में अभी भी लंगड़ाकर चल रही थी। 

तब हमने मोनी से तौलिया मांगा और उसको लपेटकर सोनी बाहर आ गई। उसको मोनी ने संभाल लिया फिर मैंने एक तौलिया के लिए कहा तो मोनी मुझे तौलिया देने आई और मैंने पूरा दरवाजा खोल दिया। 

जिससे वो एकदम शॉक हो गई और शर्मा कर चली गई। फिर मैं भी तौलिया बंद करके बाहर आया तो वो दोनो बातें कर रही थी। दोस्तो Hindi Sex Stories with Pictures थोड़ी लम्बी हो गई है लेकिन आगे आपको मज़ा आएगा। 

कोई भाभी लड़की आंटी कॉलबॉय सर्विस चाहती है तो South Ex Escorts पर जाएं।

Series Navigation<< Gand Chudai Ki Kahani 2 ऑफिस की लड़की की गांड चुदाई की कहानी भाग – 2Gand Chudai Ki Kahani 4 ऑफिस की लड़की की गांड चुदाई की कहानी भाग – 4 >>